कुलपति धाकड़ को लोकायुक्त से राहत

- जैन दिवाकर कॉलेज सहित अन्य शिकायतें नस्तीबद्ध

By: Pawan Rathore

Published: 13 Mar 2018, 11:54 AM IST

इंदौर।

कुलपति डॉ. नरेंद्र धाकड़ को लोकायुक्त से राहत मिल गई। कल इंदौर में हुई सुनवाई में जैन दिवाकर कॉलेज के मामले में हुई शिकायत को नस्तीबद्ध कर दिया गया। इसके अलावा मूसाखेड़ी में हुए अतिक्रमण के मामले की शिकायत भी खत्म हो गई।
पलासिया में संचालित जैन दिवाकर कॉलेज के मामले में शिकायत प्रो. एसएल गर्ग ने की थी। कहा गया था कि यह कॉलेज जिस जमीन पर चल रहा है, उसे आईडीए ने स्कूल के लिए आवंटित की थी। शिकायत लंबे समय से लोकायुक्त में पेंडिंग थी, लेकिन कल रेसीडेंसी कोठी में लोकायुक्त जस्टिस एनके गुप्ता ने यह शिकायत खारिज कर दी। इस मामले में आईडीए का तर्क था कि जमीन शैक्षणिक गतिविधि के लिए दी गई थी और अब भी उस पर शैक्षणिक गतिविधि ही चल रही है। लोकायुक्त भी इस तर्क से सहमत हुए और कहा कि स्कूल के लिए जमीन दी गई थी, पर अब वहां उच्च शिक्षा दी जा रही है तो इसमें हर्ज क्या है। हालांकि इसको लेकर धाकड़ ने लीज नवीनीकरण के दौरान शर्तें बदलने को कहा था, जिसमें आईडीए बोर्ड ने मना कर दिया। माना जा रहा है कि धाकड़ और गर्ग के बीच कुलपति पद को लेकर हुई खींचतान और अन्य मनमुटाव के कारण ही गर्ग ने यह शिकायत की थी।

मूसाखेड़ी में हट चुका है अतिक्रमण
मूसाखेड़ी में मयूर नगर की ओर जाने वाली सड़क पर हुए अतिक्रमण के मामले में भी लोकायुक्त में शिकायत लंबित थी। हालांकि यहां करीब डेढ़ साल पहले अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की गई थी। इसके बाद नगर निगम ने जमीन पर फेंसिंग भी करवा दी थी। लोकायुक्त में कल निगम की तरफ से जवाब पेश किया गया कि जमीन अब अतिक्रमण मुक्त है। इस पर लोकायुक्त ने यह प्रकरण भी बंद करने का आदेश दिया। इसके अलावा निगम से संबंधित दो-तीन और शिकायतें भी नस्तीबद्ध कर दी गईं।

Pawan Rathore
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned