VIDEO : आधे से ज्यादा परीक्षार्थी को 0 से 8 नंबर, हंगामे पर यूनिवर्सिटी दोबारा मूल्यांकन को राजी

VIDEO : आधे से ज्यादा परीक्षार्थी को 0 से 8 नंबर, हंगामे पर यूनिवर्सिटी दोबारा मूल्यांकन को राजी
VIDEO : आधे से ज्यादा परीक्षार्थी को 0 से 8 नंबर, हंगामे पर यूनिवर्सिटी दोबारा मूल्यांकन को राजी

Hussain Ali | Updated: 23 Aug 2019, 02:10:00 PM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

-एलएलबी और बीए एलएलबी के छात्रों ने घेरा परीक्षा नियंत्रक को

इंदौर. देवी अहिल्या यूनिवर्सिटी की परीक्षाओं के नतीजों को लगातार चुनौती मिल रही है। अब लॉ की परीक्षाओं के नतीजे यूनिवर्सिटी के गले पड़ गए। इन परीक्षाओं में दो विषय में ज्यादातर परीक्षार्थियों को 0 से 8 अंक तक मिले। परीक्षार्थियों ने बाकी विषय के अंकों का हवाला देते हुए इन विषयों का मूल्यांकन गलत करने का आरोप लगाते हुए परीक्षा नियंत्रक का घेराव कर दिया। इसके बाद दोनों विषय की कॉपियां दोबारा जंचवाने की सहमति बनी।

श्री वैष्णव इंस्टिट्यूट ऑफ लॉ, इंदौर क्रिश्चियन कॉलेज, रेनेसां और इंदौर इंस्टिट्यूट ऑफ लॉ के एलएलबी और बीए एलएलबी फस्र्ट सेमेस्टर के दो दर्जन से ज्यादा छात्र-छात्राएं गुरुवार को एबीवीपी नगर मंत्री वीरेंद्रसिंह सोलंकी व महानगर विधि कार्य प्रमुख अरुण राजपूत की अगुआई में यूनिवर्सिटी पहुंचे। उन्होंने सोमवार को जारी नतीजों पर असंतोष जताया। एलएलबी में करीब 28 फीसदी और बीए एलएलबी में 50 फीसदी परीक्षार्थी पास हुए हैं। परीक्षा नियंत्रक प्रो. अशेष तिवारी ने ज्यादातर को एग्रीगेट में फेल होने की बात कही तो परीक्षार्थियों ने अन्य विषय के अंक दिखाने के लिए अंकसूची की कॉपी उनके सामने रख कहा, हमें बाकी विषय में 40 और इससे ज्यादा नंबर आए हैं।

must read : शिक्षकों के लिए आई बुरी खबर, शासन ने सुनाया ऐसा फरमान कि मच जाएगा हडक़ंप

ऐसा कैसे हो सकता है कि कांट्रेक्ट विषय में कई को 0 से 8 अंक तक ही मिल पाए। तीन घंटे के पेपर में कुछ नंबर लायक तो लिखा ही होगा? सोलंकी ने इन विषयों की कॉपी दोबारा से जंचवाने की मांग की। लंबी बहस के बाद परीक्षा नियंत्रक ने विरोध दर्ज कराने वालों से रोल नंबर और विषय लिखवाते हुए 15 दिनों में सैंपलिंग की बात कही।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned