इच्छाशक्ति को दृढ़ करता है यज्ञ

-बटुकों को वैदिक कर्मकांड, ज्योतिष की मिलेगी नि:शुल्क शिक्षा
हरिधाम पर यज्ञशाला के लिए भूमिपूजन

 

इंदौर.

यज्ञ हमारे दूषित वातावरण को न सिर्फ ठीक करता है, बल्कि हमें सकारात्मक ऊर्जा भी प्रदान करता है। वैदिक पद्धति से किए यज्ञ से तन-मन व मस्तिष्क की शुद्धि होती है और यह हमारी इच्छाशक्ति को दृढ़ करता है।
उक्त विचार रविवार को सिद्धक्षेत्र हरिधाम कैट रोड पर दो मंजिला यज्ञशाला के भूमिपूजन अवसर पर महंत शुकदेवदास ने व्यक्त किए। महंत ने बताया, अधिष्ठाता साकेतवासी महंत घनश्यामदास के शुभ आशीर्वाद से वैदिक मंत्रोच्चार से भूमिपूजन किया गया। फू लादेवी शर्मा व गणेश शर्मा की स्मृति में बनवाई जा रही 36 बाय 36 की यज्ञशाला एक से डेढ़ महीने में तैयार की जाएगी। इस दौरान सुखीराम शर्मा ने पत्नी उमाशर्मा के साथ पूजन किया। इस अवसर पर कमलेश वाजपेयी, सौगात मिश्रा, बल्लू अग्रवाल, दारासिंह सलूजा, विनोद बिड़ला, राधेश्याम शर्मा आदि मौजूद थे। भक्त मंडल द्वारा आश्रम की गतिविधियों का आकलन किया गया।

आवास व्यवस्था भी नि:शुल्क
श्री घनश्यामदास संस्कृत विद्यापीठ में छठी से बारहवीं तक के ब्राह्मण बटुकों को ज्योतिष और कर्मकांड के साथ हिंदी, गणित, अंग्रेजी, विज्ञान आदि विषयों की नि:शुल्क शिक्षा दी जाती है। यहां आवास और शिक्षण व्यवस्था नि:शुल्क प्रदान की जाती है। श्री हरिराम भक्त मंडल के संदीप लाड ने बताया, बटुकों का प्रवेश 15 जुलाई तक होगा।

 

सुधीर पंडित
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned