Coronavirus का पहला शिकार बनी Air Deccan, संचालन बंद, कर्मचारियों को बिना वेतन बिठाया घर

  • कोरोना वायरस की वजह से डेक्कन एयरलाइंस ने संचालन किया बंद
  • एयरलाइंस ने बिना वेतन के ही अपने सभी कर्मचारियों को छुट्टी पर भेजा
  • कुछ दिन पहले फिक्की ने एविएशन मिनिस्टर और एफएम को लिखा था लेटर

By: Saurabh Sharma

Updated: 06 Apr 2020, 12:02 PM IST

नई दिल्ली। कोरोना वायरस की वजह से जिस खतरे को लेकर बार बार कहा जा रहा था वो अब सामने आना शुरू हो गया है। कोरोना वायरस की वजह से घरेलू विमानन कंपनी डेक्कन एयरलाइंस ने अपना संचालन बंद कर दिया है। साथ ही अपने कर्मचारियों को बिना वेतन दिए की छुट्टी पर भेज दिया है। कोरोना वायरस की वजह से देश में बंद होने वानी डेक्कन एयरलाइंस पहली कंपनी है। कुछ दिन पहले फिक्की की ओर से एविएशन सेक्टर की बुरी हालत को देखते हुए सेंट्रल एविएशन मिनिस्टर हरदीप सिंह पुरी और फाइनेंस मिनिस्टर निर्मला सीतारमण को लेटर भी लिखा था। आपको बता दें कि जब से पूरी दुनिया में कोरोना वायरस का दप्रकोप बढ़ा और देश में लॉकडाउन हुआ तब से देश की एविएशन इंडस्ट्री बड़े संकट के दौर से गुजर रही है।

यह भी पढ़ेंः- Coronavirus Lockdown: बैंकों का बढ़ सकता है एनपीए, सरकार दे सकती है 25 हजार करोड़

डेक्कन का संचालन बंद
कोरोना वायरस का दबाव ना झेलने के कारण डेक्कन एयरलाइंस ऐसी पहली कंपनी बन गई है, जिसने लॉकडाउन के बीच ही संचालन बंद करने की बात कह दी है। एयलाइन के सीईओ अरुण कुमार सिंह ने अपने इंप्लॉइज को ईमेल के माध्यम से कहा है कि मौजूदा समय में डॉमेस्टिक और इंटरनेशनल कारणों की वजह से सभी कमर्शियल विमानों की उड़ान पर पाबंदी लगी हुई है। जिसकी वजह से एयर डेक्कन के पास अगले नोटिस तक अपना परिचालन बंद करने के अलावा कोई विकल्प नहीं है।

यह भी पढ़ेंः- coronavirus s Lockdown: लगातार गिरते बाजार का बुरा हाल, निवेशकों में हैं कई सारे सवाल

लीव विदाउट सैलरी
वहीं उन्होंने कहा कि बड़े ही अफसोस के साथ कहना पड़ रहा है कि एयर डेक्कन के सभी परमानेंट, नॉन परमानेंट और ठेका कर्मचारियों को तुरंत लीव विदाउट सैलरी पर भेजा जा रहा है। आपको बता दें कि एयर डेक्कन के पास 18 सीटों वाले चार बीचक्राफ्ट विमान हैं। सीईओ के अनुसार अगले सप्ताह मैनेज्मेंट कुछ महत्वपूर्ण पदों को जारी रखने के लिए विभाग प्रमुखों के साथ बैठक करेगा। जिसमें तय किया जाएगा कि आखिर एयरलाइन कब अपना संचालन शुरू कर सकती है। वहीं उन्होंने कर्मचारियों को भरोसा दिलाते हुए कहा कि जब भी डेक्कन का संचालन शुरू होगा मौजूदा कर्मचारियों को मौजूदा पदों पर पहले प्रायोरिटी दी जाएगी।

यह भी पढ़ेंः- कोरोना वायरस की वजह से प्राइवेट एयरपोर्ट पर लगभग 2.40 लाख नौकरियों पर संकट

फिक्की ने एविएशन मिनिस्टर और वित्त मंत्री को लिखा था खत
वहीं फिक्की ने एविएशन मिनिस्टर हरदीप सिंह पुरी और फाइनेंस मिनिस्टर निर्मला सीतारमण को लेटर लिखकर कहा कि देश में एयरलाइंस दिवालिया होने के कगार पर आ गई हैं। उनके पास कैश की किल्लत हो रही है। वैसे कंपनियों ने अपनी लागत में कटौती की है, जिसमें पायलट्स की छंटनी, वेतन कटौती या कर्मचारियों को बिना वेतन छुट्टी पर भेजना आदि शामिल हैं।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण
Show More
Saurabh Sharma Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned