आम्रपाली के होमबायर्स ने की महेंद्र सिंह धोनी से 42 करोड़ रुपए वसूलने की मांग, जानिए क्या है पूरा मामला

  • ब्रैंड एंबेसडर के तौर पर आम्रपाली ने धोनी की कंपनी को 42 करोड़ रुपए की फीस
  • सुप्रीम कोर्ट ने महेंद्र सिंह धोनी के मामले में नहीं की टिप्पणी, सुनवाई 16 दिसंबर कोसुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली। महेंद्र सिंह धोनी ( Mahendra Singh Dhoni ) के सामने बड़ी मुश्किल आकर खड़ी हो गई है। आम्रपाली ग्रुप ( Amrapali Group ) के ब्रैंड एंबेस्डर रह चुके महेंद्र सिंह धोनी के खिलाफ होमबायर्स ( home buyers ) ने मांग की है कि उनसे 42 करोड़ रुपए वापस लिए जाएं। इसके लिए होमबायर्स इसके लिए सुप्रीम कोर्ट ( Supreme Court ) में एप्लीकेशन भी डालने वाले हैं। वास्तव में आम्रपाली ग्रुप ने महेंद्र सिंह धोनी को यह रुपए फीस के रूप में मिले थे। यह रुपया धोनी की हिस्सेदारी वाली कंपनी rhiti sports को दिए गए थे। कोर्ट ने भी 23 जुलाई को अपने फैसले में कहा था कि इस पैसे को कोर्ट में जमा करवाया जाएं, लेकिन महेंद्र सिंह धोनी किसी तरह की कोई टिप्पणी नहीं की थी।

यह भी पढ़ेंः- दिल्ली में प्याज का दाम नरम, कई शहरों में 150 के ऊपर खुदरा भाव

धोनी को दिए रुपए वापस करने की मांग
होमबायर्स की ओर से केस की पैरवी कर रहे एडवोकेट एमएल लहोटी के अनुसार वह सुप्रीम कोर्ट से मांग करेंगे कि भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी से रुपए वापस लें। 23 जुलाई को दिए फैसले के बारे में बताते हुए एडवोकेट लहोटी ने कहा कि खुद सुप्रीम कोर्ट ने स्वीकार किया है कि आम्रपाली और रीति स्पोट्र्स के बीच पैसे ट्रांसफर करने को लेकर अग्रीमेंट हुआ था और यह राशि वसूली जानी चाहिए। आपको बता दें कि इस मामले में शुक्रवार को सुनवाई होनी थी लेकिन इसे 16 दिसंबर तक के लिए टाल दिया गया है।

यह भी पढ़ेंः- दिल्ली में शुरू हुआ आर्थिक सर्वेक्षण, पहली बार मोबाइल एवं टैब पर लिया जाएगा डाटा

सिर्फ रीति और आम्रपाली के बीच हुआ था एग्रीमेंट
ऑडिटर्स की रिपोर्ट के अनुसार आम्रपाली की सहयोगी कंपनी सफायर डिवेलपर्स प्राइवेट लिमिटेड ने धोनी की कंपनी को 6.52 करोड़ का भुगतान किया। वहीं 2009 से 2015 के बीच आम्रपाली ग्रुप के द्वारा रीति स्पोट्र्स को कुल 42.22 करोड़ का भुगतान हुआ। यह भुगतान आम्रपाली के सीएमडी अनिल शर्मा की सहमति पर रीति स्पोट्र्स को किया गया। रिपोर्ट के अनुसार स्पॉन्शरशिप अग्रीमेंट में आईपीएल 2015 के दौरान चेन्नई सुपरकिंग्स के मैच के दौरान आम्रपाली के लोगो दिखाने पर समहमति बनी थी। वैसे डील प्लेन पर हुई थी। यह डील आम्रपाली और रीति स्पोट्र्स के बीच हुई थी। इस पर चेन्नई सुपरकिंग्स के अधिकारियों के साइन नहीं थे।

Show More
Saurabh Sharma Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned