मार्च तिमाही में 5237 करोड़ के नुकसान के बावजूद BHARTI AIRTEL के शेयरों में उछाल, बनाया नया रिकॉर्ड

  • मार्च तिमाही में भारती एयरटेल को नुकसान
  • शेयर होल्डर्स का कंपनी में भरोसा कायम
  • 10 फीसदी बढ़े शेयर प्राइस

By: Pragati Bajpai

Published: 19 May 2020, 05:19 PM IST

नई दिल्ली : टेलीकॉम कंपनी ( TELECOM COMPANY ) भारती एयरटेल (Bharti Airtel) को वित्तीय वर्ष 2019-20 की मार्च तिमाही (Q4) में 5,237 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है। कंपनी का कहना है कि Statutory Dues को लेकर खर्च बढ़ाए जाने के कारण उन्हें ये घाटा हुआ है। इस दौरान कंपनी का कुल रेवेन्यू लगभग 15 प्रतिशत सुधरकर 23,722.7 करोड़ रुपये रहा है ।

अमेरिका की पहली कोरोना वैक्सीन का Human Trial सफल, शेयर मार्केट में भी दिखा असर

मार्च तिमाही के दौरान कंपनी ने 7,004 करोड़ रुपये का अपने विधायी बकाया को चुकाने के लिए अलग से प्रावधान किया । यही वजह है कि कंपनी को ये नुकसान उठाना पड़ा। लेकिन जैसा कि कंपनी ने अपने बयान में बताया ये ताजा हालातकी वजह से नहीं है औऱ शेयर मार्केट भी कंपनी के नुकसान की खबर से अछूता नजर आया ।

52 सप्ताह के उच्चतम स्तर पर शेयर- भारती एयरटेल ( Bharti Airtel LTD ) के शेयर प्राइस ( SHARE PRICE ) में आज 10 फीसदी का उछाल दर्ज किया गया । जो कि अपने आप में एक रिकॉर्ड है। बीएसई ( BSE ) में कंपनी के शेयर 591.95 रुपए प्रति शेयर पर पहुंच गए। यह इसका 52 सप्ताह का उच्चतम स्तर का नया रिकॉर्ड है। 10 फीसदी की तेजी के साथ 598.80 रुपए प्रति शेयर के भाव पर बंद हुआ । इस तेजी के साथ ही SHARE MARKET में भारती एयरटेल का मार्केट कैपिटलाइजेशन बढ़कर 3.20 लाख करोड़ रुपए के पार पहुंच गया है।

इस वजह से आई तेजी- एक्सपर्ट्स की मानें तो 4जी नेटवर्क सब्सक्राइबर्स की संख्या बढ़ने से एयरटेल का कारोबार मजबूत होता दिख रहा है। भारत ही नहीं कंपनी ने भारत के अलावा अफ्रीकी कारोबार में भी अनुमान से बेहतर प्रदर्शन किया है। इससे निवेशकों का भरोसा बढ़ा है और अधिकांश ब्रोकरेज ने एयरटेल ( AIRTEL ) में खरीदारी की सलाह दी है।

Bharti Airtel Bharti Airtel Ltd
Pragati Bajpai Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned