BHIM ऐप देगा अब सभी तरह के मोबाइल पेमेंट की सुविधा

manish ranjan

Publish: Sep, 06 2017 03:42:00 (IST) | Updated: Sep, 06 2017 03:48:00 (IST)

Industry
BHIM ऐप देगा अब सभी तरह के मोबाइल पेमेंट की सुविधा

इस प्लान से हैंडसेट में एप प्री लोडेड होगा और साथ ही में क्विक रिसपॉन्स (QR) होगा जो की सभी मर्चेंट द्वारा एक्सेप्ट किया जाएगा।

नई दिल्ली। इलेक्ट्रानिक्स और आईटी मंत्रालय ने भारत इंटरफेस फॉर मनी यानि BHIM ऐप को सभी तरह के मोबाईल पेमेंट के सुविधा देने की कवायद में लगा हुआ है। इस प्लान से हैंडसेट में एप प्री लोडेड होगा और साथ ही क्विक रिसपॉन्स (QR) होगा जो की सभी मर्चेंट द्वारा एक्सेप्ट किया जाएगा। इसका प्रयास राष्ट्रीय स्तर पर तेज पेमेंट की सुिवधा मुहैया कराना होगा। एक अधिकारी ने बताया कि, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कैशलेस इकोनॉमी के सपने का साकार करने के लिए मंत्रालय द्वारा उठाया गया एक महत्वपूर्ण कदम हैं।


देना होगा कम ट्रांजैक्शन शुल्क

एक सूत्र के मुताबिक, इसके लिए नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) भारत QR के साथ इस पार काम कर रही है। इससे ग्राहकों को कम से कम ट्रांजैक्शन कॉस्ट देना होगा और मोबाइल वॉलेट सहित सभी तरह के डिजिटल पेमेंट की सुविधा दीा जाएगी। ये कोड सभी व्यापारीयों के, सरकारी विभागों और पीएसयू रीसीप्ट प्वाइंट पर लगाया जाएगा।


NPCI BHIM ऐप के लिए एक कॉमन मर्चेंट ऐप को डेवलप कर रहा है जिससे की बिजली, पानी जैसे सभी बिल का भुगतान किया जा सके। इसे पूरी तरह से फंक्शनल ऐप के तौर पर डेवलप किया जाएगा और ये भारत QR कोड को सपोर्ट करेगा। सरकार ने बैंको को ये भी सलाह दिया है कि, वो अपने UPI ऐप को भीम (बैंक का नाम) के तौर पर रिब्रांड करें।


ऐप को प्रमोट करने की कवायद

एक सिनियर आधिकारी ने बताया कि, इसको बढ़ावा देने के लिए मंत्रालय उबर, ओला, रिलायंस रिटेल, अमेजन, फ्लिपकार्ट और बिग बाजार जैसे फर्म्स से उनके प्लेटफॉर्म पर बढ़ावा देने के लिए बात कर रहा है। कई मोबाईल हैंडसेट निर्माताओं से भी प्री लोडेड भीम ऐप को लेकर बात चल रहा है। मोबाइल कंपनी कार्बन ने पहले ही भीम ऐप प्री लोडेड एक फोन लॉन्च कर चुका हैं। ये भी अनुमान लगाया जा रहा है कि जियो के सबसे बहुचर्चित 4G फीचर फोन मे भी प्री लोडेड BHIM ऐप आ सकता है। इसके अलावा भारती ऐयरटेल, आईडिया सेल्यूलर और रिलांयस जियो से भी इस ऐप के प्रमोशन को लेकर बात चल रही है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned