सेकंड वल्र्ड वॉर के बाद ग्लोबल एविएशन इंडस्ट्री में सबसे बड़ी गिरावट

कोविड 19 के कारण उड़ानों पर लगे प्रतिबंधों से पिछले साल हवाई यात्रियों की संख्या में 60 फीसदी गिरावट
पिछले साल 1.8 अरब लोगों ने हवाई यात्रा की, जबकि वर्ष 2019 में यह आंकड़ा 4.5 अरब देखने को मिला था

By: Saurabh Sharma

Updated: 18 Jan 2021, 01:39 PM IST

नई दिल्ली। कोविड-19 महामारी के कारण उड़ानों पर लगे प्रतिबंधों की वजह से पिछले साल हवाई यात्रियों की संख्या में 60 प्रतिशत की अभूतपूर्व गिरावट देखी गई और यह घटकर वर्ष 2003 के स्तर पर आ गई। संयुक्त राष्ट्र की इकाई अंतरराष्ट्रीय नागर विमानन संगठन यानी आईकाओ ने पिछले सप्ताह 'कोविड-19 के आर्थिक प्रभाव का विश्लेषण' जारी किया। रिपोर्ट में कहा गया है कि वर्ष 2020 में हवाई यात्रियों की संख्या में 60 प्रतिशत की नादिटकीय गिरावट रही जो द्वितीय विश्व युद्ध के बाद कभी नहीं देखा गया।

यह भी पढ़ेंः- बजट 2021 से पहले कारोबारियों ने बजाया जीएसटी के खिलाफ बिगुल, अब होगा देशव्यापी आंदोलन

पिछले साल इतने लोगों ने की थी हवाई यात्रा
पिछले साल 1.8 अरब लोगों ने हवाई यात्रा की जबकि वर्ष 2019 में यह आंकड़ा 4.5 अरब रहा था। इस प्रकार हवाई यात्रियों की संख्या वर्ष 2003 के बाद के निचले स्तर पर आ गई है। आईकाओ ने कहा है कि इससे विमान सेवा कंपनियों को 370 अरब डालर का नुकसान हुआ है। साथ ही हवाई अड्डा संचालकों को 115 अरब डालर और एयर नेविगेशन सेवा देनी वाली एजेंसियों को 13 अरब डॉलर का नुकसान उठाना पड़ा है।

यह भी पढ़ेंः- देश के बजट से ज्यादा है इन तीन कंपनियों के पास दौलत

भारत की यह रही स्थिति
रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि घरेलू विमानन सेवाओं की तुलना में अंतरराष्ट्रीय सेवाएं महामारी से अधिक प्रभावित हुई हैं। घरेलू मार्गों पर यात्रियों की संख्या में 50 प्रतिशत और अंतरराष्ट्रीय मार्गों पर 74 प्रतिशत की गिरावट देखी गई है। भारत के आंकड़े देखें तो वैश्विक औसत की तुलना में यहां हवाई यात्रियों की संख्या में ज्यादा बड़ी गिरावट आई है। नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) के आंकड़ों के अनुसार, पिछले साल घरेलू मार्गों पर छह करोड़ 30 लाख 11 हजार यात्रियों ने हवाई सफर किया जो वर्ष 2019 के मुकाबले 56.29 प्रतिशत कम है।

यह भी पढ़ेंः- 28 महीने के बाद रिकॉर्ड लेवल पर पहुंचे पेट्रोल के दाम, जानिए अपने शहर की कीमत

एयरलाइन कंपनियों के शेयरों में गिरावट
अगर बात एयरलाइन कंपनियों के शेयरों की बात करें तो इंडिगो, स्पाइसजेट के शेयरों में गिरावट देखने को मिल रही है। पहले बात स्पाइसजेट के शेयरों की बात करें तो 1.84 फीसदी यानी 1.65 रुपए की गिरावट के साथ 87.95 रुपए पर कारोबार कर रहा है। जबकि इंडिगो के शेयरों में 2.71 फीसदी यानी 44.20 रुपए की गिरावट के साथ 1586.90 रुपए पर कारोबार कर रहा है। जबकि गैर संचालित जेट एयरवेज के शेयरों में 5 फीसदी का लोअर सर्किट लगा हुआ है।

Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned