आगामी 3 सालों में दो हजार करोड़ रुपए का निवेश करेगी बीकेटी, 300 लोगों को मिल सकेगा रोजगार

  • टायर निर्माता बीकेटी ने कहा है कि आगामी तीन सालों में 2 हजार करोड़ रुपए का निवेश करेगी।
  • कंपनी ने कहा कि यह निवेश संयंत्रों के आधुनिकीकरण व क्षमता विस्तार के लिए किया जाएगा।
  • भारत से लेकर यूरोप तक में बिकते हैं बीकेटी के टायर्स

By: Ashutosh Verma

Published: 10 Mar 2019, 07:29 PM IST

नई दिल्ली। ऑफ-हाईवे टायर निर्माता कंपनी बालकृष्ण इंडस्ट्रीज लिमिटेड (बीकेटी) ने कहा कि कंपनी अगले तीन साल में अपने संयंत्रों पर दो हजार करोड़ रुपए निवेश करेगी जिससे करीब 300 लोगों को रोजगार मिलेगा। बीकेटी के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक (एमडी) अरविंद पोद्दार ने कहा, "कंपनी अगले तीन साल में संयंत्रों के साथ ही अन्य विस्तार पर दो हजार करोड़ रुपये निवेश करेगी और इससे करीब 300 लोगों को रोजगार मिलेगा।"


संयंत्रों का होगा आधुनिकीकरण व क्षमता विस्तार

अरविंद पोद्दार ने कहा, "ये निवेश संयंत्रों के आधुनिकीकरण एवं क्षमता विस्तार पर किया जाएगा, जिससे अलग-अलग भौगोलिक परिस्थितियों एवं जरूरतों के अनुकूल उपयुक्त टायर का निर्माण किया जा सके।" पेरिस में आयोजित कृषि उत्पादों के सबसे बड़े एक्सपो सीमा में हिस्सेदारी के दौरान पोद्दार ने कहा, "'बीकेटी अभिनव उत्पादों के निर्माण में भरोसा करती है और यही वजह है कि कंपनी के पास 2700 से अधिक टायर के मॉडल है। प्रतिवर्ष कंपनी 82 से 100 नए मॉडल पेश करती है।"


यूरोप में भी बिकते हैं बीकेटी के उत्पाद

उन्होंने उदाहरण देते हुए बताया कि महाराष्ट्र में जिस ट्रैक्टर का उपयोग होगा वह आंध्र प्रदेश के लिए उपयुक्त नहीं होगा, क्योंकि वहां की जमीन हार्ड है। उन्होंने कृषि संबंधी उत्पाद के लिए विकास दर लक्ष्य 15 फीसदी है। उन्होंने कहा कि भारत में समग्र रूप से देखा जाए तो विकास दर 12 से 15 फीसदी है। पोद्दार ने कहा कि टायर सेक्टर का समग्र विकास दर 5 से 6 फीसदी है वहीं बीकेटी का विकास दर 10 से 12 फीसदी है। उन्होंने बीकेटी के कुल उत्पाद का 52 फीसदी टायर यूरोप के बाजारों में बिकता है। बाकी की खपत घरेलू एवं अन्य बाजारों में होती है। फ्रांस में कंपनी का मार्केट शेयर करीब 25 फीसदी है।


कपंनी के भारत में हैं तीन संयंत्र

कंपनी के भारत में तीन संयंत्र हैं। इनमें गुजरात के भुज में 312 एकड़ में फैला संयंत्र है। इसके अलावा औरंगाबाद और भिवाड़ी में संयंत्र है। इन पर कंपनी अगले तीन साल में दो हजार करोड़ रुपये निवेश करेगी। उल्लेखनीय है कि बीकेटी ने हाल ही में एक नई उत्पादन साइट के लिए 10 करोड़ डॉलर की निर्माण परियोजना का ऐलान किया था। इस प्रोडक्शन साइट से न केवल अमेरिकी बाजार में बल्कि पूरे अमेरिकी क्षेत्र में सप्लाई की जाएगी। यह नई प्रोडक्शन साइट भारत के बाहर इस बहुराष्ट्रीय समूह की पहली विनिर्माण साइट होगी।

 

Ashutosh Verma Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned