मोदी सरकार के लिए खुशखबरी, 7 माह के उच्चतम स्तर पर पहुंचकर 6.7 फीसदी हुआ कोर सेक्टर का ग्रोथ रेट

आठ बुनियादी उद्योग की वृद्घि दर बढ़कर पिछले सात माह के उच्चतम स्तर पर पहुंच गर्इ है। उद्योगों का ये वृद्घि दर 6.7 फीसदी रहा है।

By: Ashutosh Verma

Published: 01 Aug 2018, 01:18 PM IST

नर्इ दिल्ली। भारतीय रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक से ठीक पहले ही मोदी सरकार के लिए एक खुशखबरी आर्इ है। आठ बुनियादी उद्योग की वृद्घि दर बढ़कर पिछले सात माह के उच्चतम स्तर पर पहुंच गर्इ है। उद्योगों का ये वृद्घि दर 6.7 फीसदी रहा है। वृद्घि दर में ये बढ़त सीमेंट, रिफाइनरी आैर कोल सेक्टर के बेहतर प्रदर्शन के वजह से देखने को मिल रही है। इसके पहले बुनियादी उद्योगों की वृद्घि दर पिछले साल नवंबर 2017 में अधिकतम दर्ज की गर्इ थी। नवंबर 2017 में ये 6.9 फीसदी था। इस साल मर्इ में बुनियादी उद्योगों की वृद्घि दर 4.3 फीसदी थी।


कितनी बढ़ी वृद्घि दर
मंगलवार को वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ो के अनुसार, सीमेंट में सालाना आधार पर 13.2 फीसदी, रिफाइनरी प्रोडक्ट्स पर 12 फीसदी आैर कोल सेक्टर में 11.5 फीसदी वृद्घि दर दर्ज की गर्इ। कच्चे तेल की 3.4 फीसदी आैर प्राकृतिक गैस 2.7 फीसदी की नाकारात्मक वृद्घि दर दर्ज की गर्इ है। बिजली उत्पादन में भी वृद्घि दर में बढ़ोतरी देखने को मिली है। जून माह में बिजली उत्पादन की वृद्घि दर 4 फीसदी रही है। वहीं पिछले साल सामान अवधि में ये 2.2 फीसदी ही था।


इन सेक्टर्स में रहा नाकारात्मक वृद्घि दर
वहीं कुछ सेक्टर्स में वृद्घि दर में कमी भी देखने को मिली है। स्टील सेक्टर में 4.4 फीसदी की धीमी वृद्घि दर दर्ज की गर्इ है। जो कि जनू 2017 में 6 फीसदी था। वहीं फर्टीलाइजर सेक्टर में भी नाकारात्मक वृद्घि दर रही है। इस सेक्टर में इस बार वृद्घि दर 1 फीसदी रहा जो कि पिछले साल सामान माह में भी नाकारात्मक ही रहा है। चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही यानी अप्रैल-जून माह में इन आठ बुनियादी उद्योगों की वृद्घि दर 5.2 फीसदी रहा। वहीं पिछले साल सामन तिमाही में ये 2.5 फीसदी था। इंडेक्स आॅफ इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन (आर्इआर्इपी) में शामिल अाइटम्स में इन आठ बुनियादी उद्योगों का भारांश 40.27 फीसदी है।

यह भी पढ़ें -

Show More
Ashutosh Verma Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned