लॉकडाउन के खतरे के बीच FMCG कंपनियों ने जरूरी सामानों का प्रोडक्शन बढ़ाया

मरीजों की बढ़ती संख्या के साथ पूरे देश पर लॉकडाउन का खतरा मंडराने लगा है जिससे लोग अपने घरों में जरूरी सामानों को ज्यादा से ज्यादा मात्रा में भर लेना चाहते हैं।

By: Pragati Bajpai

Updated: 23 Mar 2020, 09:53 AM IST

नई दिल्ली: भारत में कोरोनावायरस अपनी तीसरी स्टेज पर पहुंच चुका है । मरीजों की संख्या बढ़ने के साथ ही सरकार ने रविवार को 75 जिलों को लॉकाउन कर दिया है । लॉकडाउन की खबर के साथ ही FMCG कंपनियों ने आवश्यक वस्तुओं के उत्पादन में वृद्धि कर दी है। ताकि लोगों को इन चीजों की कमा न हो । दरअसल मरीजों की बढ़ती संख्या के साथ पूरे देश पर लॉकडाउन का खतरा मंडराने लगा है जिससे लोग अपने घरों में जरूरी सामानों को ज्यादा से ज्यादा मात्रा में भर लेना चाहते हैं।

टेंपरेरी है मांग-

हिंदुस्तान लीवर, ITC, अमूल और फॉर्च्यून जैसी कंपनियों का मानना है कि ये मांग लंबे समय तक के लिए नहीं है बल्कि महज एक-2 महीनों के लिए पैनिक शॉपिंग करने वालों की तरफ से की जाने के कारण पैदा हुई है।

साबुन और सैनेटाइजर्स की घटाई कीमतें- कोरोना वायरस से बचाव में हाईजीन सबसे ज्यादा कारगर है । जिसके चलते मार्केट में सोप और सैनेटाइजर जैसे हाईजीन प्रोडक्ट की डिमांड काफी बढ़ गई है । कंपनियों ने अब इन प्रोडक्ट्स को कम कीमत पर देने का फैसला किया है ताकि हर कोई इन्हें आसानी से खरीद सके। हिंदुसतान लीवर, गोदरेज और पातंजली जैसी कंपनियों ने राष्ट्रहित में इस सामान को प्रॉफिट के बिना बेचने की बात कही है।

राज्य सरकारों ने की है काम बंद करने की गुजारिश- COVID-19 के बढ़ने की वजह से कई राज्यों में फैक्ट्रीज में काम बंद करने की अपील की जा चुकी है। लेकिन अब कंपनियों ने फिर से प्रोडक्शन शुरू करने की बात कही है । और उनका कहना है कि कच्चे माल की कमी न होने के चलते ये फिलहाल मुश्किल नहीं है।

coronavirus
Show More
Pragati Bajpai
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned