आभूषण कारोबार पर भी पड़ रहा मंदी का असर, 55 लाख नौकियों पर मंडरा रहा खतरा

आभूषण कारोबार पर भी पड़ रहा मंदी का असर, 55 लाख नौकियों पर मंडरा रहा खतरा

Shivani Sharma | Updated: 10 Sep 2019, 12:13:41 PM (IST) इंडस्‍ट्री

  • देश में 55 लाख नौकरियों पर मंडरा रहा संकट
  • सरकार से जीएसटी दर घटाने की मांग की

नई दिल्ली। देश में मंदी के दौर का असर न सिर्फ ऑटो सेक्टर पर देखने को मिल रहा है बल्कि इसके साथ ही सोना उद्योग भी काफी नुकसान में चल रहा है। हर दिन तेजी से बढ़ते सोने के दाम के कारण सोने की खरीदारी में काफी कमी आ गई है, जिसका सीधा असर आभूषण उद्योग पर पड़ रहा है। लोग इन दिनों आभूषणों की खरीददारी कम रहे हैं, जिसके कारण आभूषण कारीगरों में भी नौकरी का संकट पैदा हो गया है।


जीएसटी दर घटाने की मांग की

आपको बता दें कि अखिल भारतीय रत्न एवं आभूषण घरेलू परिषद (GJC) ने इस बात के बारे में जानकारी दी। परिषद ने इसके साथ ही आयातित सोने पर सीमा शुल्क की दरें कम करने और आभूषणों पर जीएसटी की दर घटाने की मांग की है। आम बजट 2019-20 में आयातित सोने पर सीमा शुल्क 10 फीसदी से बढ़ाकर 12.5 फीसदी किया गया था, जिसका असर भी बाजार पर साफ देखने को मिल रहा है। वहीं आभूषण पर जीएसटी की दर तीन फीसदी तय की गई है जोकि पहले की टैक्स प्रणाली में सिर्फ एक फीसदी थी।


ये भी पढ़ें: दुनिया की ऐसी कंपनी जो सोने के लिए भी देती है पैसे, फोटो में देखिए आखिर ऐसा क्या खास है इस कंपनी में


शंकर सेन ने दी जानकारी

परिषद के वाइस चेयरमैन शंकर सेन ने कहा, ‘कमजोर मांग से आभूषण उद्योग मंदी के दौर से गुजर रहा है। इससे हजारों कुशल कारीगरों का रोजगार छिनने का अंदेशा पैदा हो गया है।’ उन्होंने कहा कि सीमा शुल्क में वृद्धि तथा जीएसटी की मौजूदा दर से उपभोक्ता धारणा प्रभावित हो रही है क्योंकि इससे आभूषणों की कीमतों में इजाफा हुआ है।


कम किया जाए आयात शुल्क

देश के सभी कारीगरों की मांग है कि सोने पर लगना वाले सीमा शुल्क को फिर से घटाकर 10 फीसदी कर दिया जाए। इसके साथ ही जीएसटी को भी एक फीसदी कर दिया जाए। सेन ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि ऊंचे सीमा शुल्क की वजह से सोने की तस्करी भी बढ़ी है।


ये भी पढ़ें: 113 साल पुरानी कंपनी Eveready बिकने की कगार पर, 1700 करोड़ में खरीदेंगे अरबपति वॉरने बफे


55 लाख नौकरियों पर मंडरा रहा संकट

GJC ने सरकार से मांग करते हुए कहा है कि इस सेक्टर की 55 लाख नौकरियों को बचाने के लिए सरकार गोल्ड पॉलिसी में बड़े बदलाव करे। अगर सरकार कोई सख्त कदम नहीं उठाती है तो इससे सभी कारीगरों को काफी नुकसान होगा। सेन ने कहा कि सरकार को पैन कार्ड पर खरीददारी की सीमा को 2 लाख से बढ़ाकर 5 साथ तक देना चाहिए।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned