क्वॉलिटी को खरीदेगी हल्दीराम, लगाई 130 करोड़ की बोली

क्वॉलिटी को खरीदेगी हल्दीराम, लगाई 130 करोड़ की बोली

Shivani Sharma | Publish: Oct, 11 2019 03:51:45 PM (IST) | Updated: Oct, 11 2019 03:52:31 PM (IST) इंडस्‍ट्री

  • क्वॉलिटी के अधिग्रहण की दौड़ में सिर्फ हल्दीराम
  • साल 1937 में शुरु हुई थी हल्दीराम

नई दिल्ली। लंबे समय से कर्ज के बोझ में दबी हुई क्वॉलिटी डेयरी की मदद के लिए हल्दीराम आगे आ सकती है। क्वॉलिटी पर इस समय कुल 1900 करोड़ रुपए का कर्ज है। यह कंपनी भारत में दूध, दही, आइसक्रीम, लस्सी और छाछ जैसे कई तरह के प्रोडक्ट्स बेचती है, लेकिन इस समय कंपनी वित्तीय संकट का शिकार हो गई है, जिसके बाद देश की मशहूर स्नैक्स बनाने वाली कंपनी हल्दीराम ने कंपनी के अधिग्रहण के लिए बोली लगाई है।


एनसीएलटी में चल रहा मामला

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार दिवाला प्रक्रिया से गुजर रही क्वॉलिटी के लिए हल्दीराम समूह ने 130 करोड़ रुपये की बोली लगाई है। क्वॉलिटी का मामला इस समय एनसीएलटी में चल रहा है। यहां पर अदालत ने कंपनी की नीलामी का आदेश दिया है, जिसमें सिर्फ हल्दीराम ने ही बोली लगाई है।


130 करोड़ में खरीदेगी हल्दीराम

हल्दीराम ने कंपनी को 130 करोड़ रुपए में खरीदने का विचार बनाया है। फिलहाल इस महीने कर्जदाता हल्दीराम की बोली पर मतदान करेंगे। राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण (NCLT) के आदेश के बाद क्वॉलिटी के खिलाफ दिवाला प्रक्रिया दिसंबर, 2018 में शुरू हुई थी। वैश्विक निजी इक्विटी कंपनी केकेआर ने क्वॉलिटी के खिलाफ दिवाला अपील दायर की थी।


कंपनी ने जुटाए इतने रुपए

क्वॉलिटी ने 2016 में केकेआर इंडिया फाइनेंशियल सर्विसेज से 300 करोड़ रुपये जुटाए थे। इसके अलावा उसे 220 करोड़ रुपये के लिए अतिरिक्त प्रतिबद्धता भी मिली थी। सूत्रों ने बताया कि क्वॉलिटी के लिए बोली लगाने वाली एकमात्र कंपनी हल्दीराम है। सीओसी समाधान योजना पर अक्टूबर के तीसरे सप्ताह में मतदान करेगी।


1937 में शुरु हुई कंपनी

साल 1937 में हल्दीराम कंपनी ने बीकानेर से अपने बिजनेस की शुरुआत की थी। फिलहाल आज के समय में हल्दीराम देश की दिग्गज कंपनियों में शामिल है। इसके साथ ही साल 2013 में कंपनी की कमाई में लगभग 13 फीसदी की बढ़ोतरी हुई थी।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned