मंदी के बावजूद भारत में लगातार बढ़ रहा है आयातित साइकिलों का बाजार

मंदी के बावजूद भारत में लगातार बढ़ रहा है आयातित साइकिलों का बाजार

Saurabh Sharma | Updated: 02 Sep 2019, 05:21:10 PM (IST) इंडस्‍ट्री

  • पिछले साल में भारत में 5 फीसदी के इजाफे के साथ 27 फीसदी रहा साइकिल का बाजार
  • अगले साल भारत में 5 फीसदी के इजाफा के साथ 32 फीसदी बाजार के रहने के आसार

नई दिल्ली। जहां एक ओर ऑटो सेक्टर में जबरदस्त मंदी का दौर चल रहा है। लाखों की संख्या में नौकरियां जा रही हैं। ऑटो प्लांट बंद हो रहे हैं। वहीं दूसरी ओर साइकिल के बाजार में जबरदस्त इजाफा देखने को मिल रहा है। पिछले साल कुल साइकिल के बाजार में 5 फीसदी का इजाफा हुआ है। जानकारों की मानें तो अगले साल इसके 5 फीसदी और भी बढ़ोतरी के आसार हैं। आइए आपको भी बताते हैं मौजूदा समय में साइकिल के बाजार में कितना इजाफा देखने को मिला है।

देश में सामान्य साइकिल बाजार में मंदी के बावजूद आयातित स्पोर्टी साइकिलों का बाजार लगातार बढ़ता जा रहा है। आयातित साइकिलों का कारोबार करने वाली देश की 10 बड़ी कंपनियों में शुमार बाइक स्टूडियो के कंट्री हेड नीतिन घई ने आज यहां बताया कि दो साल पहले देश के कुल साइकिल बाजार का 22 फीसदी हिस्सा आयातित वर्ग की साइकिलों का था जो पिछले साल बढ़ कर 27 फीसदी हो गया है और अगले साल इसके और विस्तारित होकर 31 से 32 फीसदी हो जाने का अनुमान है।

यह भी पढ़ेंः- अगर आप भी करते हैं स्मोकिंग तो एलआईसी लेकर आया है आपके लिए नया प्लान

उन्होंने कहा कि सामान्य साइकिल बाजार की मंदी से आयातित स्पोर्टी साइकिल कारोबार पूरी तरह अछूता है। दरअसल दोनों वर्ग की साइकिलों की कीमतों में आम तौर पर 15 से 20 फीसदी का ही अंतर होने से लोग आयातित साइकिलों को ही प्राथमिकता दे रहे हैं। गुजरात में अपने चौथे शोरूम के उद्घाटन के मौके पर यहां आए। घई ने बताया कि उनके ब्रांड के देश के 18 शहरों में लगभग 20 विशिष्ट स्टोर हैं, जिनकी संख्या अगले मार्च तक बढ़ा कर 30 और मार्च 2021 तक 50 करने का लक्ष्य है।

गुजरात में फिलहाल आणंद, सूरत राजकोट आौर अहमदाबाद में ऐसे स्टोर हैं और आगामी मार्च तक इनकी संख्या 7 की जानी है। उनकी कंपनी फेरारी, लांबार्गिनी, रोमेट, इनफाइनाइट, एल ए जैसे विदेशी ब्रांडों के साइकिलों का कारोबार करती है। बच्चों की साइकिलों की कीमत पांच से 16 हजार रुपए तक जबकि वयस्कों की साइकिलों की कीमत 10 हजार से छह लाख रुपए तक है।

यह भी पढ़ेंः- लगातार तीसरे दिन सस्ता हुआ सोना, चांदी के दाम स्थिर

उन्होंने कहा कि टाइटेनियम की बनी कुछ साइकिलों की कीमत तो 9 से 10 लाख रुपए तक से शुरू ही होती है पर अभी इन्हें यहां नहीं लाया गया है। भारत के आयातित साइकिल बाजार में औसतन 60 हजार से एक लाख तक के कीमत की स्पोर्टी साइकिलें अधिक बिकती हैं।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned