इस सेक्‍टर में आ रही हैं एक लाख नौकरियां, तैयार कर लीजिए अपने कागजात

इस सेक्‍टर में आ रही हैं एक लाख नौकरियां, तैयार कर लीजिए अपने कागजात

Saurabh Sharma | Updated: 12 May 2018, 03:45:26 PM (IST) इंडस्‍ट्री

देश के लॉ एंड आईटी मिनिस्‍टर रवि शंकर प्रसाद ने बताया कि भारतीय आईटी इंडस्‍ट्री इस साल 8 फीसदी की ग्रोथ के साथ 1 लाख से ज्‍यादा नई नौकरियां देगा।

नई दिल्‍ली। अगर आप नौकरी की तलाश में हैं तो सरकार ने इसका इंतजाम कर दिया है। बस आप अपने कपड़े और सभी डॉक्‍युमेंट्स तैयार लीजिये। क्‍योंकि एक लाख नौकरियां आपके लिए दस्‍तक देने जा रही हैं। इस बात की घोषणा हम नहीं बल्कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सबसे खास लोगों में शुमार और कैबिनेट मिनिस्‍टर ने इस बात की घोषणा की है। आइए आपको भी बताते हैं किस सेक्‍टर में आपके लिए नौकरी के द्वार खुलने जा रहे हैं?

इस कैबिनेट मिनिस्‍टर ने दी जानकारी
देश के लॉ एंड आईटी मिनिस्‍टर रवि शंकर प्रसाद ने बताया कि भारतीय आईटी इंडस्‍ट्री इस साल 8 फीसदी की ग्रोथ के साथ 167 अरब डॉलर पर पहुंच सकता है। साथ ही इस साल यह इंडस्‍ट्री 1 लाख से ज्‍यादा नई नौकरियां देगा। आपको बता दें कि कुछ दिन पहले पीएम मोदी ने अपने सभी कैबिनेट मिनिस्‍टर्स को जॉब को लेकर एक एडवाइजजरी जारी की थी। उन्‍होंने कहा था कि देश में नौकरियों के बारे में लोगों को जानकारी दी जाए। ऐसे में रविशंकर प्रयाद द्वारा दी गई यह जानकारी काफी महत्‍वपूर्ण हैं।

ट्वीट कर दी जानकारी
कैबिनेट मिनिस्टकर रविशंकर प्रसाद ने ट्वीट कर कहा कि NASSCOM की प्रेसिडेंट देवजानी घोष ने आज मुझसे मुलाकात की। हमारे बीच आईटी इंडस्ट्री से संबंधित मुद्दों पर चर्चा हुई। उन्होंने बताया कि 2018 में भारतीय आईटी इंडस्ट्री 8 फीसदी की ग्रोथ के साथ 167 अरब डॉलर पर पहुंच जाएगा। इस साल इंडस्ट्री में कर्मचारियों की संख्या बढ़कर 39.7 लाख पर पहुंच जाएगी, जो 2017 की तुलना में 1,05,000 अधिक होगी।

137 अरब डॉलर का होगा निर्यात
सॉफ्टवेयर सर्विस इंडस्ट्री के संगठन NASSCOM के अनुसार 2018-19 में इस सेक्ट र का निर्यात 137 अरब डॉलर रहेगा, जो 2017-18 में 126 अरब डॉलर था। शुक्रवार को ही एक अन्य कार्यक्रम में देबजानी घोष व ब्रिटेन के मंत्री मैट हेनकुक ने भारत-ब्रिटेन टेक रॉकेटशिप अवॉर्ड के चौथे एडिशन की शुरुआत की। यह अवॉर्ड टेक्नोेलॉजी फिल्ड में उभरते भारतीय स्टार्टअप की मदद के लिए डिजाइन किए गए हैं।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned