इतनी जानलेवा है तुरंत आराम देने वाली ये दवाएं, दुनिया के कई देशों में है बैन

स्वास्थय मंत्रालय ने सेरीडॉन समेत कुल 327 ऐसी दवाओं पर बैन लगाने के लिए अधिसुचना जारी कर दी है, जो तुंरत आराम देती है।

By: manish ranjan

Updated: 15 Sep 2018, 03:18 PM IST

नई दिल्ली। स्वास्थय मंत्रालय ने सेरीडॉन, समेत कुल 327 ऐसी दवाओं पर बैन लगाने के लिए अधिसुचना जारी कर दी है, जो तुंरत आराम देती है। दरअसल ये दवाएं आपको तुरंत तो आराम देती हैं लेकिन स्वास्थय के लिए इतनी खतरनाक हैं कि आप अंदाजा भी नहीं लगा सकते है। इसी वजह से कई ऐसी तुरंत आराम देने वाली दवाओं को अमरीका समेत दुनिया के कई बड़े देशों ने बैन कर रखा है। आइए जानते हैं कैसे ये दवाएं आपको बीमार करती हैं और दुनिया के किन देशों में इन बैन लगा हुआ है।

इतनी खतरनाक हैं ये दवाएं

दरअसल एंटीबायोटिक दवाइयां सूक्ष्म जीवाणुओं द्वारा बनाई जाती हैं जो दूसरे-जीवाणुओं को मार देती हैं। इससे आपको तुरंत आराम मिलता है। लेकिन लंबे समय में आपके शरीर पर इसका उल्टा प्रभाव पड़ता है। इसलिए एंटीबायोटिक दवाओं को लेते समय डॉक्टर से जरुर सलाह लेनी चाहिए। फिक्स डोज़ कॉम्बिनेशन इन वाली दवाओं से शरीर की रोग-प्रतिरोधी क्षमता कम हो जाती है।

कई देशों में बैन हैं ये दवाएं

- अमरीका की सेफ्टी बॉडी ने साल 2002 में डिस्प्रिन को 16 साल के कम बच्चों के लिए बैन कर दिया था। क्योंकि इसका सीधा असर बच्चों के विकास पर पड़ता है।

- इसी तरह सिरदर्द, सर्दी, खांसी की एक अन्य दवाई डी कोल्ड टोटल भी कई देशों में बैन है। क्योंकि इस दवाई से किडनी खराब होने का खतरा रहता है।

- कब्ज की दवाई Phenolphthalein भी कई देशों में बैन है. एक रिसर्च के मुताबिक इस दवाई से कैंसर हो सकता है।

- इसी तरह कोलेस्ट्रोल की दवाई Cerivastatin कई देशों में बैन है। दरअसल इस दवाई से मांसपेशियां डैमेज हो सकती है. इसके अलावा इससे किडनी भी खराब हो सकती है।

- Nitrofurazone एक तरह की एंटी बैक्टिरियल दवा है। इस दवा से कैंसर होने का खतरा बना रहता है। इसके चलते ये ड्रग कई देशों में बैन है।

Show More
manish ranjan Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned