आॅटो से चलने वालों की लिए आर्इ खुशखबरी, सरकार के फैसले के बाद इस कंपनी ने लिया बड़ा फैसला

आॅटो से चलने वालों की लिए आर्इ खुशखबरी, सरकार के फैसले के बाद इस कंपनी ने लिया बड़ा फैसला

Ashutosh Kumar Verma | Publish: Sep, 06 2018 06:57:05 PM (IST) इंडस्‍ट्री

पिछले 12 महीनों में देश में तिपहिया वाहनों की मांग में तेजी देखी गई है, जिसमें महाराष्ट्र, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश और दिल्ली में सबसे ज्यादा परमिट जारी किए गए हैं।

नई दिल्ली। भारत सरकार के एक घोषणा के बाद बजाज आॅटो के लिए बहार लेकर आया है। बजाज ऑटो ने अपनी तिपहिया और क्वाड्रीसाइकल वाहनों के उत्पादन में बढ़ोतरी की घोषणा की है, क्योंकि सरकार ने परमिट राज खत्म करने की घोषणा की है। सरकार के इस फैसले के बाद अब देश की अग्रणी वाहन विक्रेता कंपनियों में से एक बजाज आटो ने कहा कि वह अब सालाना दस लाख वाहनों का उत्पादन करेगी। बजाज ऑटो के मुख्य वाणिज्यिक अधिकारी राकेश शर्मा ने गुरुवार को एक बयान में कहा, "पिछले 12 महीनों में देश में तिपहिया वाहनों की मांग में तेजी देखी गई है, जिसमें महाराष्ट्र, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश और दिल्ली में सबसे ज्यादा परमिट जारी किए गए हैं। बजाज ऑटो ने इस साल 17 सितंबर से 18 अगस्त की अवधि के दौरान कुल 4,35,000 तिपहिया वाहनों की बिक्री की है, जो साल दर साल आधार पर 88 फीसदी की वृद्धि दर है।"


नितिन गडकरी ने सियाम के सम्मेलन में की थी घोषणा
बयान में आगे कहा गया कि सियाम (सोसाइटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैनुफैक्चर्स) के सम्मेलन में गुरुवार को परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने 'बिना परमिट' शासन की ऐतिहासिक घोषणा की, जिसके तहत वैकल्पिक ईंधन से चलने वाले ऑटो रिक्शों को परमिट लेने की जरूरत नहीं होगी। इसे देखते हुए बजाज ऑटो ने अपना उत्पादन बढ़ाने का फैसला किया है।


बाजार में बजाज आॅटो की 86 फीसदी हिस्सेदारी
वैकल्पिक ईंधन से चलने वाले वाहनों के बाजार में बजाज ऑटो की हिस्सेदारी 86 फीसदी है। कंपनी ने कहा कि इस घोषणा से क्वाड्रीसाइकल - बजाज क्विट की बिक्री को बढ़ावा मिलेगा, जो सीएनजी/एलपीजी ईंधन विकल्पों के साथ आता है, साथ ही ज्यादा से ज्यादा राज्य सरकारें क्यूट को टैक्सी के रूप में प्रयोग के लिए मंजूरी दे रही हैं।

यह भी पढ़ें -

इन जगहों पर मिल रहा सबसे सस्ता पेट्रोल, टाॅफी से भी कम है एक लीटर की कीमत

Ad Block is Banned