आॅनलाइन शाॅपिंग करते वक्त रहें सावधान, हर तीन में से एक सामान है नकली

E-Commerce वेबसाइट हेवी डिस्काउंट्स पर आपको धड़ल्ले से नकली सामान बेच रहे हैं। ये खुलासा हाल ही में हुए एक सर्वे में हुआ है।

By: Ashutosh Verma

Published: 25 Apr 2018, 10:04 AM IST

नर्इ दिल्ली। अगर आपको भी र्इ-कामर्स वेबसाइट से खरीदारी करना पसंद है तो सावधान हो जाइए। देश के कर्इ प्रमुख र्इ-काॅमर्स वेबसाइट पर नकली सामान बिकने की वाकये लगातार बढ़ते जा रहे हैं। कर्इ र्इ-काॅमर्स वेबसाइट हेवी डिस्काउंट्स पर आपको धड़ल्ले से नकली सामान बेच रहे हैं। ये खुलासा हाल ही में हुए एक सर्वे में हुआ है। इस सर्वे में ये बाद सामने आर्इ है कि लगभग आॅनलाइन खरीदारी के समय लगभग एक तिहार्इ लोगों को नकली सामान से जुड़ी समस्या का सामना करना पड़ा है।

Online Shopping

र्इ-काॅमर्स कंपनियां नहीं करती हैं सेलर्स की मूल जांच

लोकलसर्विस ने आॅनलाइन बिकने वाले सामानों में नकली होने की जानकारी इकट्ठा करने के लिए 12 हजार यूनिक कंज्यमर्स का सर्वे किया था। जिसमें इन कंज्यमर्स का मानना है कि कर्इ र्इ-काॅमर्स वेबसाइट लोगों को ध्यान आकर्षित करने के लिए नकली उत्पादों को भारी डिस्काउंट के साथ पेश करती हैं। जबकि इनमें से अधिकतर कंपनियां डिस्काउंट के चक्कर में सामान बेचने वाले रिटेलर्स की मूल जांच तक नहीं करती हैं।

Online Shopping

38 फीसदी लोगों ने माना की उन्हें मिले नकली प्रोडक्ट्स

इस सर्वे के पहले पोल में 6932 लोगों ने हिस्सा लिया था जिसमें से 38 फीसदी लोगों का कहना है कि उन्हें बीते एक साल में र्इ-काॅमर्स साइट्स से खरीदारी पर नकली प्रोडक्ट्स मिले हैं। वहीं 45 फीसदी लोगों का कहना है कि उनके साथ एेसा कुछ भी नहीं हुआ। जबकि 17 फीसदी लोगों ने बताया कि वो इनके बारे में कुछ नहीं जानते हैं। दूसरी तरफ मार्केट रिसर्च प्लेटफाॅर्म वेलोसिटी एमआर द्वारा 3,000 लोगों पर किए गए एक आैर सर्वे में पाया गया कि उन्हे बीते छह माह में हर तीसरे आॅनलाइन शाॅपिंग करने पर नकली सामान मिला है।

 

इन बड़ी कंपनियों ने बेचा नकली प्रोडक्ट्स

जब इन कंज्यूमर्स से ये पूछा गया कि कौन सी बड़ी कंपनी ने बीते एक साल में नकली प्रोडक्ट्स बेचा है इसपर लोगों ने अलग-अलग जवाब दिया। इनमें से 12 फीसदी लोगों ने स्नैपडील का नाम लिया, 11 फीसदी लोगों ने अमेजाॅन आैर 6 फीसदी लोगों ने फ्लिपकार्ट का नाम लिया। इस सर्व में 71 फीसदी लोग एेसे थे जो कभी आॅनलाइन शाॅपिंग नहीं किए या उन्हें कभी नकली प्रोडक्ट्स नहीं मिलेा। इस सर्वे में सबसे ज्यादा नकली उत्पादों में सबसे पहले स्थान पर परफ्यूम आैर फ्रेगरेंस हैं। वहीं जूतों आैर स्पोर्टिंग गुड्स के सामान दूसरे नंबर पर रहे। 51 फीसदी लोगों ने माना कि फैशन , अपैरल, बैग्स, गैजेट्स जैसे सामान उन्हें नकली बेचा गया है।

Show More
Ashutosh Verma Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned