Toll Plaza पर भूलकर भी न करें Cash Payment, नहीं तो देना पड़ सकता है Penalty

Toll Plaza पर भूलकर भी न करें Cash Payment, नहीं तो देना पड़ सकता है Penalty

Ashutosh Kumar Verma | Updated: 03 Jul 2019, 07:02:02 PM (IST) इंडस्‍ट्री

  • Cash Payment से 10-20 फीसदी तक बढ़ जायेगा खर्च।
  • FASTags जैसे इलेक्ट्राॅनिक माध्यमों से Payment करना फायदेमंद।

नई दिल्ली। अगर आप भी नकदी में टोल टैक्स ( toll tax ) जमा करते हैं तो 10-20 फीसदी तक अधिक खर्च करने के लिए तैयार हो जाइए। टोल प्लाजा ( toll plaza ) पर बढ़ती भीड़ को कम करने के लिए सरकार अब कैश में पेमेंट करने पर आपसे अधिक पैसे वसूलेगी। सरकार का कहना है FASTags जैसे इलेक्ट्राॅनिक माध्यमों से पेमेंट करें।

यदि यह नियम लागू हो जाता है तो टोल प्लाजा पर मिलने वाली सुविधाओं में बदलाव करने में मदद मिलेगी। एक सरकारी अधिकारी ने बताया, "कैश में टोल जमा करने से टोल प्लाजा पर भारी भीड़ जमा हो जाती है। अभी तक हम इलेक्ट्राॅनिक टोलिंग पर डिस्काउंट देते थे। अब हम इस प्लान को बदलने पर विचार कर रहे हैं।"


FASTags की मदद से ऐसे होता है पेमेंट

राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण ( NHAI ) अपने टोल पाॅलिसी में इसे लेकर घोषणा कर सकता है। FASTags को साल 2014 में लागू किया गया था, जिसमें एक RFID तकनीक का इस्तेमाल किया जाता है। इसे आपके सेविंग्स अकाउंट से कनेक्ट किया जाता है जो कि आपकी गाड़ी पर लगे स्टीकर से लिंक्ड होता है। इस स्टिकर के लगने के बाद आपको टोल प्लाजा पर पेमेंट करने के लिए रुकना नहीं पड़ता है।


ऐसे देना होगा अधिक खर्च

मौजूदा नियमों के मुताबिक, डिजिटल पेमेंट पर NHAI डिस्काउंट की सुविधा देता है। अब इसे बदलने का प्रस्ताव है। अब इलेक्ट्राॅनिक पेमेंट के लिए एक बेस रेट तय किया जायेगा। इसमें सरचार्ज भी जोड़ा जायेगा। नकदी में पेमेंट करने वालों पर भीड़ के आधार पर सरचार्ज तय किया जायेगा। इस बेस रेट में सरचार्ज करीब 10-20 फीसदी तक बढ़ जायेगा। अधिकारी ने बताया, "इसमें कई तरह का काॅस्ट शामिल है। पर्यावरण काॅस्ट सबसे अधिक है। भीड़ की वजह से सबसे अधिक प्रदुषण बढ़ता है। इसके बाद भूमि अधिग्रहण काॅस्ट होता है।"

Business जगत से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर और पाएं बाजार, फाइनेंस, इंडस्‍ट्री, अर्थव्‍यवस्‍था, कॉर्पोरेट, म्‍युचुअल फंड के हर अपडेट के लिए Download करें Patrika Hindi News App.

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned