देश की सबसे बड़ी टेलीकाॅम कंपनी को हुआ दो महीने में 5000 करोड़ रुपए घाटा

वोडाफोन आइडिया को चालू वित्त वर्ष की सितंबर में समाप्त हुई तिमाही में करीब 5 हजार करोड़ रुपए घाटा हुआ है। कंपनी ने विलय के बाद के अपने पहले वित्तीय नतीजों को बुधवार को जारी करते हुए यह जानकारी दी।

By: Saurabh Sharma

Published: 15 Nov 2018, 09:00 AM IST

नई दिल्ली। वोडाफोन आइडिया को चालू वित्त वर्ष की सितंबर में समाप्त हुई तिमाही में करीब 5 हजार करोड़ रुपए घाटा हुआ है। कंपनी ने विलय के बाद के अपने पहले वित्तीय नतीजों को बुधवार को जारी करते हुए यह जानकारी दी। वोडाफोन आइडिया ने एक बयान में कहा कि ये नतीजे अगस्त और सितंबर के हैं, क्योंकि कंपनी का विलय अगस्त में पूरा हुआ था। वोडाफोन आइडिया में वोडाफोन की 45.2 फीसदी तथा आदित्य बिड़ला समूह की 26 फीसदी हिस्सेदारी है। वोडाफोन आइडिया के विलय के बाद भी दोनों कंपनियां अलग-अलग ब्रांड नाम से परिचालन कर रही हैं।

कुछ एेसा रहा है साल
वोडाफोन आइडिया देश की सबसे बड़ी दूरसंचार कंपनी है, जिसके कुल 42.2 करोड़ ग्राहक हैं। कंपनी ने अगस्त और सितंबर में कुल 7,663 करोड़ रुपये का राजस्व दर्ज किया है। वहीं, ब्रिटेन की दूरसंचार कंपनी वोडाफोन को साल 2018 की पहली छमाही में 7.8 अरब यूरो का नुकसान हुआ है, जबकि पिछले साल (2017) की समान अवधि में कंपनी को 1.2 अरब यूरो का मुनाफा हुआ था। कंपनी ने बुधवार को यह जानकारी दी।

यहां हुआ इतना नुकसान
ब्रिटेन की कंपनी वोडाफोन ने एक बयान में कहा कि समीक्षाधीन अवधि में कंपनी को स्पेन, रोमानिया और वोडाफोन आइडिया में निवेश पर 3.5 अरब यूरो का नुकसान हुआ। साथ ही वोडाफोन इंडिया की बिक्री पर उसे 3.4 अरब यूरो का नुकसान हुआ। आपको बता दें कि दोनों कंपनियों ने जियो को टक्कर देने के लिए आपस में विलय किया था। क्योंकि दोनों कंपनियों को प्राइस वाॅर की वजह से काफी नुकसान भी उठाना पड़ रहा था।

Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned