ट्रेड वाॅर के बीच ट्रंप ने दी एप्पल को बड़ी राहत, अब यहां लोग आसानी से खरीद सकेंगे एप्पल वाॅच आैर एयरपाॅड्स

ट्रेड वाॅर के बीच ट्रंप ने दी एप्पल को बड़ी राहत, अब यहां लोग आसानी से खरीद सकेंगे एप्पल वाॅच आैर एयरपाॅड्स

Ashutosh Kumar Verma | Publish: Sep, 18 2018 08:27:49 PM (IST) | Updated: Sep, 18 2018 08:27:50 PM (IST) इंडस्‍ट्री

एप्पल और उसके निवेशकों को भारी राहत पहुंचाते हुए ट्रंप प्रशासन ने चीनी सामानों के आयात पर लगाए गए शुल्क से एप्पल के स्मार्ट वॉच, स्मार्ट स्पीकर और एयर पाड्स को मुक्त कर दिया है।

नर्इ दिल्ली। अमरीका आैर चीन के बीच चल रहे ट्रेड वाॅर से पूरी दुनिया के बाजाराें में असर देखने को मिल रहा है। भारतीय शेयर बाजार से लेकर एशियार्इ शेयर बाजार इस हफ्ते लाल निशान पर कारोबार कर रहे हैं। लेकिन इसी बीच अब दुनिया की सबसे मशहूर स्मार्टफोन विक्रेता कंपनी एप्पल के लिए एक अच्छी खबर आर्इ है। एप्पल और उसके निवेशकों को भारी राहत पहुंचाते हुए ट्रंप प्रशासन ने चीनी सामानों के आयात पर लगाए गए शुल्क से एप्पल के स्मार्ट वॉच, स्मार्ट स्पीकर और एयर पाड्स को मुक्त कर दिया है। सीएनबीसी की सोमवार की रपट में प्रतिबंधित वस्तुओं की सूची जारी की गई, जिसमें बताया गया है कि एप्पल का मैकमिनी इसमें शामिल है।

यह भी पढ़ें - बारिश ने इस अरबपति काे एक झटके में कर दिया कंगाल, दर-दर भटकने की अार्इ नौबत!

एप्पल को मिली बड़ी राहत
एप्पल को डर था कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा 200 अरब डॉलर के चीनी सामानों पर शुल्क बढ़ाने के प्रस्ताव में कई उसके उत्पादों को भी न शामिल कर लिया जाए, जिसमें एप्पल वॉच, एयरपॉड्स, और एडोप्टर व चार्जर समेत उत्पादों की बड़ी संख्या है। प्रौद्योगिकी दिग्गज ने इसलिए अमेरिकी व्यापार प्रतिनिधियों को खत लिखकर उसके उत्पादों पर शुल्क नहीं बढ़ाने की सिफारिश की थी। बात दें कि हाल ही में एप्पल ने तीन नए स्मार्टफोन को लाॅन्च किया है। हालांकि भारत में इस फोन को लोगों के हाथ में देखने में अभी थोड़ा वक्त लग सकता है।

यह भी पढ़ें - अनिल अंबानी ने तोड़ दिया धीरूभार्इ अंबानी का सपना! सारा कारोबार बेचकर अब करेंगे ये काम

ट्रंप प्रशासन ने लगाया था 25 फीसदी आयात शुल्क
ट्रंप प्रशासन ने 200 अरब डॉलर मूल्य के चीनी उत्पादों पर आयात शुल्क बढ़ा दिया है, जो सितंबर के अंत से लागू होगा तथा 2018 के अंत से इन पर शुल्क में 25 फीसदी की वृद्धि होगी। अमेरिकी प्रशासन के इस कदम से चीन से छिड़े व्यापार युद्ध में और तेजी आएगी। अमेरिकी शुल्क की चपेट में चीन से अमेरिका आयात किए जानेवाले करीब आधा उत्पाद आ चुके हैं।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned