IPL 2021 स्थगित होने के बाद चेतेश्वर पुजारा ने बताया कैसे उन्होंने नेगेटिविटी को खुद से दूर किया

IPL 2021 में चेन्नई ने 50 लाख की बेस प्राइज में पुजारा को अपनी टीम में शामिल किया था। इससे पहले पुजारा ने अपना आखिरी आईपीएल साल 2014 में खेला था।

By: Mahendra Yadav

Updated: 06 May 2021, 12:18 PM IST

टेस्ट स्पेशलिस्ट माने जाने वाले भारतीय टीम के प्लेयर चेतेश्वर पुजारा को कई साल बाद आईपीएल टूर्नामेंट में खेलने का मौका मिला था। हालांकि आईपीएल स्थगित होने से वे अपना जौहर नहीं दिखा पाए। बता दें कि आईपीएल के 14वें सीजन में चेन्नई सुपर किंग्स ने नीलामी में चेतेश्वर पुजारा को खरीदा था तो पूरा हॉल तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा था। बता दें कि चेन्नई ने 50 लाख की बेस प्राइज में पुजारा को अपनी टीम में शामिल किया था। इससे पहले पुजारा ने अपना आखिरी आईपीएल साल 2014 में खेला था। इसके बाद कई वर्षों तक आईपीएल में किसी भी फ्रेंचाइजी द्वारा न खरीदे जाने पर चेतेश्वर पुजारा हताश और निराश हो गए थे। IPL 2021 स्थगित होने के बाद पुजारा ने एक यू ट्यूब चैनल से बात करते हुए अपने पुराने दिन याद किए।

इस पर कोई नियंत्रण नहीं था
आईपीएल में कई वर्षों तक किस भी फ्रेंचाइजी द्वारा पुजारा को नहीं लेने के नहीं लेने के सवाल पर उन्होंने कहा कि यह कठिन था, लेकिन यह ऐसी चीज है, जिस पर मेरा कोई नियंत्रण नहीं। पुजारा ने बताया कि हालांकि इस दौरान उन्होंने क्रिकेट के छोटे प्रारूप की दिशा में बेहतर करने के लिए काम करते रहे। साथ ही उन्होंने बताया कि उन्होंने नेगेटिविटी को खुद से दूर रखा।

यह भी पढ़ें— कोरोना के कहर के बीच सस्पेंड हुआ IPL 2021, कई खिलाड़ी हुए संक्रमित

cheteshwar_pujara_2.png

आध्यात्मिक गुरु ने दी योग और ध्यान की सलाह
पुजारा ने यूट्यूब चैनल को बताया कि वे नेगेटिविटी को खुद से दूर रखने के लिए योगा और ध्यान करते हैं। पुजारा का कहना है कि ऐसा करने के लिए उन्हें उनके आध्यातमिक गुरु ने सलाह दी थी। पुजारा का कहना है कि इंटरनेशनल क्रिकेट में खुद को स्थापित करने के लिए दबाव झेलना जरूरी होता है। अगर आप एक बार नेगेटिविटी में चले गए तो सबकुछ नेगेटिव होने लगता है। उनका कहना है कि वे नियमित रूप से योग करते हैं और प्रार्थना करता हैंं, जिससे वे सकारात्मक बने रहें।

यह भी पढ़ें— IPL के चेयरमैन ने बताया टूर्नामेंट के बचे हुए मैच टी20 वर्ल्ड कप से पहले या बाद में कराए जाएंगे

छोड़ना चाहते थे क्रिकेट
पुजारा ने अपने पुराने दिन याद करते हुए बताया कि एक दौर ऐसा आया था, जब वे क्रिकेट छोड़ना चाहते थे। पुजारा ने बताया कि उन्हें लगने लगा था कि वे इस प्रेशर को नहीं झेल पाएंगे। पुजारा ने बताया कि वे अपनी स्वर्गवासी मां के पास जाते और राते थे। साथ ही वे क्रिकेट को छोड़ना चाहते थे, लेकिन आज उन्हें पता है कि दबाव कैसे झेलना है, इससे कैसे पार पाना है। बता दें कि पुजारा जब 17 साल के थे तो उनकी मां का देहांत हो गया था।

Mahendra Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned