IPL 2021: ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ प्लेइंग इलेवन से बाहर होने के बाद अपनी टेक्निक को लेकर चिंतित हो गए थे पृथ्वी शॉ

ऑस्ट्रेलिया में पृथ्वी टेस्ट मैच में कुछ खास नहीं कर पाए थे। वे दोनों पारियों में विफल रहे थे। पहली पारी में वे बिना खाता खोले जीरो पर आउट हो गए थे। वहीं दूसरी पारी में वे 4 रन बनाकर पैवेलियन लौट गए थे।

By: Mahendra Yadav

Published: 19 Apr 2021, 03:30 PM IST

दिल्ली कैपिटल्स के ओपनर बल्लेबाज पृथ्वी शॉ आईपीएल 2021 में लगातार बेहतरीन प्रदर्शन कर रहे हैं। रविवार को आईपीएल 2021 में 11वां मुकाबला दिल्ली कैपिटल्स और पंजाब किंग्स के बीच हुआ। इस मैच में दिल्ली कैपिटल्स ने बेहतरीन बल्लेबाजी करते हुए पंजाब किंग्स को 6 विकेट से हरा दिया। मैच में दिल्ली के पृथ्वी शॉ ने बेहतरीन बल्लेबाजी करते हुए 17 गेंदों पर 32 रनों की पारी खेली। इसमें उन्होंने तीन चौके और दो छक्के लगाए। मैच के बाद पृथ्वी ने बताया कि ऑस्ट्रेलिया में टीम इंडिया की प्लेइंग इलेवन से बाहर होने के बाद वे अपनी टेक्निक को लेकर चिंतित हो गए थे।

दोनों पारियों में रहे थे विफल
बता दें कि ऑस्ट्रेलिया में पृथ्वी टेस्ट मैच में कुछ खास नहीं कर पाए थे। वे दोनों पारियों में विफल रहे थे। पहली पारी में वे बिना खाता खोले जीरो पर आउट हो गए थे। वहीं दूसरी पारी में वे 4 रन बनाकर पैवेलियन लौट गए थे। इसके बाद उन्हें टीम इंडिया की प्लेइंग इलेवन से बाहर कर दिया गया था। प्लेइंग इलेवन से बाहर होने के बाद पृथ्वी अपनी टेक्निक को लेकर चिंतित हो गए थे, लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी। उन्होंन अपनी टेक्निक पर काम करते हुए उसमें थोड़ा बदलाव किया। इसका नतीजा उन्हें घरेलू क्रिकेट में देखने को मिला।

यह भी पढ़ें- IPL 2021 : कोच रिकी पोंटिंग ने किया खुलासा, पृथ्वी शॉ ने बल्लेबाजी करने कर दिया था साफ इनकार

prithvi_shaw_ipl.png

विजय हजारे ट्राफी और आईपीएल में दिखा असर
पृथ्वी ने ऑस्ट्रेलिया दौरे के बाद जब अपनी टेक्निक में बदलाव किया तो इसका पॉजिटिव असर विजय हजारे ट्रॉफी दिखा और वे आईपीएल 2021 में भी बेहतरीन प्रदर्शन कर रहे हैं। विजय हजारे ट्रॉफी में उन्होंने मुंबई टीम की कप्तानी करते हुए उन्होंने 165 से ज्यादा की औसत से टूर्नामेंट में 827 रन बनाए। इस टूर्नामेंट में 800 से ज्यादा रन बनाने वाले वे पहले बल्लेबाज बने। इसमें उन्होंने दोहरे शतक के साथ 4 सेंचुरी लगाई। इसके अलावा आईपीएल 2021 में पहलेे मैच में चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ 38 गेंदों में 72 रन की पारी खेली।

यह भी पढ़ें- IPL 2021: अर्जुन तेंदुलकर और पृथ्वी शॉ की 10 साल पुरानी फोटो वायरल, MI की टॉपी पहन देखा था वर्ल्ड कप

'सोचने लगा था बोल्ड क्यों हो रहा हू’
रविवार को पंजाब के खिलाफ मैच के बाद पृथ्वी ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया में पहले टेस्ट के बाद टीम से बाहर हो जाने पर वे सोचने लगे थे कि वे बोल्ड क्यो हो रहा हूं। वे छोटी सी छोटी खामी को दूर करना चाह रहे थे। पृथ्वी ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया से लौटने के बाद अपने कोच प्रशांत शेट्टी और प्रवीण आमरे के साथ टेक्निक पर काम किया। पृथ्वी ने बताया कि विजय हजारे ट्रॉफी में उन्होंने अपनी तकनीक में छोटा सा बदलाव किया। उसके बाद सबकुछ ठीक हो गया। साथ ही उन्होंने बताया कि आईपील के लिए उन्हें ज्यादा तैयारी करने का मौका नहीं मिला, लेकिन रिकी पोंटिंग, प्रवीण आमरे और प्रशांत शेट्टी के साथ प्रैक्टिस करने का मौका मिला।

Mahendra Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned