किसानों की 546 करोड़ की राशि अटकी, परिवहन की सुस्त रफ्तार बनी समस्या

-अब भी करीब 8 लाख मीट्रिक टन गेहूं का होना है परिवहन

By: Rahul Saran

Published: 24 May 2020, 03:37 PM IST

इटारसी। गेहंू की समर्थन मूल्य पर खरीदी और परिवहन की गति के बीच तालमेल के कारण भुगतान की व्यवस्था गड़बड़ा गई है। जिले के करीब 7 हजार किसानों को गेहूं बेचने के बावजूद भुगतान नहीं मिल पाया है। भुगतान नहीं होने की वजह यह है कि उनके गेहूं का अब तक परिवहन नहीं हो सका है जिससे अब तक उनके बिल ही जनरेट नहीं हो सके हैं। पूरे जिले में किसानों की करीब ५४६ करोड़ रुपए की राशि शासन के पास अटकी हुई है जिसके भुगतान का इंतजार किसानों कर रहे हैं।
-----------------
15 अप्रैल से हुई खरीदी चालू
जिले में 15 अप्रैल से गेहूं की समर्थन मूल्य पर खरीदी प्रारंभ हुई है। खरीदी चालू होने से पहले पंजीकृत किसानों के पास मैसेज भेजे गए थे। खरीदी चालू होते ही किसानों का खरीदी केंद्रों पर पहुंचना चालू हो गया था। यह खरीदी मई माह में चार दिन और बढ़ा दी गई है ताकि कोई भी किसान गेहूं बेचने से वंचित ना रहे।
----------------
इसलिए अटकी है राशि
जिले में हजारों किसानों को गेहूं बेचने के बाद राशि का भुगतान नहीं हुआ है इसकी वजह यह है कि परिवहन की रफ्तार बहुत सुस्त है। जिन-जिन किसानों के गेहूं का उठाव हो चुका है उन किसानों के बिल जनरेट कर उन्हें राशि का भुगतान किया जा रहा है मगर जिनका उठाव नहीं हुआ है उनके बिल तैयार नहीं होने से भुगतान में भी देरी हो रही है और किसान खरीदी केंद्रों के चक्कर काट रहे हैं।
---------------
यह है अब तक की खरीदी
होशंगाबाद जिले में कुल खरीदी केंद्र- 290
अब तक हुई खरीदी- करीब .87 लाख मीट्रिक टन
गेहंू बेचने वाले कुल किसान- करीब 70482
-------------------
1708 करोड़ का खरीदा अब तक गेहूं
जिले में अब तक इन 70 हजार से ज्यादा किसानों से जो गेहूं खरीदी हुई है उसका करीबन 1708 करोड़ रुपए का भुगतान किसानों को होना है। अब तक करीबन 7 लाख 98 हजार 135 मीट्रिक टन गेहूं का परिवहन ही हो सका है जिससे अब तक केवल1162 करोड़ रुपए की राशि के बिल ही जनरेट हुए हैं। गेहूं पहले ही बेच चुके हजारों किसानों की अब भी करीब 546 करोड़ रुपए की राशि का भुगतान अटका हुआ है।
-------------------
इनका कहना है
जिले में अब भी हजारों किसानों को गेहूं बेचने के बावजूद भुगतान नहीं मिला है। किसानों को खरीदी केंद्रों के चक्कर काटने मजबूर होना पड़ रहा है। पहले से ही परेशान किसानों को भुगतान मिलने में हो रही देरी से और परेशानी हो रही है।
विजय चौधरी बाबू, जिलाध्यक्ष किसान कांग्रेस

खरीदी केंद्रों से गेहूं के परिवहन का काम तेजी से किया जा रहा है। अब तक करीब 1708 करोड़ रुपए की राशि का गेहूं खरीदी जा चुका है जिसमें करीब 1162 करोड़ रुपए की राशि के ईपीओ जारी हो गए हैं। जो राशि बची है वह भी शेष गेहूं का परिवहन होते ही बट जाएगी।
जेएल चौहान, जिला आपूर्ति नियंत्रक होशंगाबाद

Rahul Saran
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned