आखिर रंग लाया कर्मचारी संगठनों का विरोध, ट्रेकमैनों के लिए हुआ बडा निर्णय

-२५ हजार ट्रेकमैनों से जुड़ा आदेश वापस,
-एक साथ नहीं करेंगे काम
-प्रिंसीपल चीफ इंजीनियर ने जारी किया था आदेश

--तीनों मंडलों में हो रहा था विरोध

By: Rahul Saran

Published: 09 Apr 2020, 06:42 PM IST

इटारसी। कोरोना वायरस के संक्रमण के खतरे के बीच जबलपुर जोन के इंजीनियरिंग विभाग के एक आदेश ने रेलवे ट्रेकमैनों की चिंता बढ़ा रखी थी। आदेश में सभी ट्रेकमैनों से एकसाथ ड्यूटी कराने की बात कही गई थी मगर विरोध के चलते इस आदेश को वापस ले लिया गया है। इस आदेश के वापस होने से जोन के 25 हजार ट्रेकमैनों की बढ़ी चिंता दूर हो गई है।
जबलपुर जोन के प्रिंसीपल चीफ इंजीनियर यानी पीसीई ने कुछ दिन पहले एक आदेश जारी किया था इस आदेश में कहा गया था कि ट्रेकमैनों की ड्यूटी अब फुल स्ट्रेंथ में यानी पूरी संख्या में लगाई जाएगी। पीसीई के इस आदेश ने इटारसी, होशंगाबाद, भोपाल, हरदा सहित पूरे भोपाल मंडल के साथ जबलपुर और कोटा मंडल के टे्रकमैनों में बेचैनी बढ़ा दी थी जिसके बाद सभी जगह पर इसका विरोध हो रहा था।
---------------------
अब एक दिन छोड़कर लगेगी ड्यूटी
उक्त आदेश के वापस होने के बाद अब ट्रेकमैनों की ड्यूटी का सिस्टम बदल जाएगा। अब ट्रेकमैनों की ड्यूटी एक दिन छोड़कर लगेगी। इससे ना तो सोशल डिस्टेंसिंग के मानक का उल्लंघन होगा और ना ही कर्मचारी एक-दूसरे के उपकरणों में हाथ लगाएंंगे।
--------------
इनका कहना है
जोन के इंजीनियर विभाग प्रमुख ने आदेश निकाला था उसका हमने इसका विरोध किया था क्योंकि इससे ट्रेकमैनों में संक्रमण का खतरा बढ़ता। हमारी मांग पर उक्त आदेश वापस ले लिया गया है।
अशोक शर्मा, महामंत्री डब्ल्यूसीआरएमएस

इस बारे में हमें भी पता चला है। वरिष्ठ कार्यालय से जो आदेश आएंगे उनका पालन किया जाएगा।
भुवनेश्वर त्रिपाठी, एडीईएन इटारसी।

Rahul Saran Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned