कांग्रेस पदाधिकारियों ने कहा-विधायक शर्मा बचने के लिए बना रहे हैं दबाव

भाजपा शासित नपा ने छीने पीएम आवास

इटारसी। पीएम आवास राशि नहीं मिलने पर विधायक डॉ. सीतासरन शर्मा कांगे्रस और एसडीएम को दोषी ठहरा रहे हैं। इसका जवाब कांग्रेस के पदाधिकारियों ने पत्रकारवार्ता में दिए। विधायक डॉ. शर्मा के आरोपों का जवाब कांगे्रस के प्रदेश प्रवक्ता राजकुमार उपाध्याय, संभागीय प्रवक्ता अशोक जैन, नगराध्यक्ष पंकज राठौर, जिला उपाध्यक्ष राजेंद्र तोमर, विजय बाबू चौधरी, अमोल उपाध्याय ने दिए।

बचने के लिए कर रहे यह काम
कांग्रेस पदाधिकारियों ने कहा ट्रस्ट की भूमि पर लाभ लेने के मामले में स्वयं घिरते हुए देखकर बचने के लिए अब डॉ. शर्मा अनर्गल आरोप लगा रहे हैं। उनके संरक्षण में चलाई गई नगर पालिका में हुए भ्रष्टाचार उजागर होने से डॉ. शर्मा तिलमिला गए हैं। मंदिर की भूमि पर बने खेल प्रशाल के लिए सांसद निधि से 10 लाख एवं 5 लाख रुपए विधायक निधि से दिए गए जबकि विधायक डॉ. शर्मा विधायक निधि से राशि दिए जाने से इंकार कर रहे थे। नगर पालिका के रिकार्ड में यह बात उपलब्ध है कि खेल प्रशाल के लिए 10 लाख रुपए सांसद एवं 5 लाख रुपए विधायक निधि से दी गई।

द्वारिकाधीश मंदिर का मामला भी आया
अशोक जैन ने कहा कि विधायक डॉ. शर्मा ने सवाल उठाया था कि श्रीद्वारिकाधीश मंदिर के मामले में मुझे पत्र नहीं मिला फिर एक समाचार पत्र के पास कैसे पहुंचा। इस पर कहा कि उक्त अधिकारी ने 7 जनवरी को ही मध्यप्रदेश के पोर्टल वेबसाइट पर इसे डाल दिया था, जिसे कोई भी देख सकता है।

जिला कांग्रेस उपाध्यक्ष बोले
जिला कांग्रेस उपाध्यक्ष राजेंद्र तोमर ने कहा कि मेरे पिताजी स्वतंत्रता संग्राम सेनानी हैं। उनके द्वारा मुझ पर आरोप लगाया कि दान में दी जमीन को वापस लेने का प्रयास मैं या मेरा परिवार कोई भी जमीन वापस लेने की बात नहीं कह रहा और न मैंने कोई आवेदन भूमि वापस के लिए दिया। श्रीद्वारिकाधीश मंदिर समिति का सदस्य हूं। मैरिज गार्डन के लिए मंदिर की जमा राशि से लाखों रुपए निकलवाकर बनवा लिया गया। उक्त गार्डन को अधिक राशि पर किराए पर दूसरा व्यक्ति मांग रहा था, लेकिन विधायक ने अपने समर्थक जसबीर सिंघ छाबड़ा को कम दर पर दिया।

नगरअध्यक्ष बोले....
नगराध्यक्ष पंकज राठौर ने कहा कि विधायक डॉ. शर्मा हितग्राहियों को लेकर प्रशासन एवं कांग्रेस पर जो आरोप लगा रहे हैं नगर पालिका भाजपा शासित थी उसके संरक्षक विधायक थे। अपने कार्यकाल में हितग्राहियों के कागजात को पोर्टल पर लोड क्यों नहीं कराया गया। राजकुमार उपाध्याय ने कहा कि विधायक डॉ. शर्मा ने मुझ पर कुछ आरोप लगाए। मेरा कहना है कि जैसा स्वयं कार्य कराते हैं, जैसे लोगों को लेकर घूमते हैं, वैसे ही दूसरों पर संलिप्तता का आरोप लगाते हैं। मैं वर्ष 1975 से इटारसी में रह रहा हूं, तब उन्हें मेरे द्वारा जुआ, शराब या सट्टा चलाने जैसी गतिविधि क्यों नजर नहीं आई। जिला पंचायत सदस्य विजय बाबू चौधरी ने डॉ. शर्मा द्वारा कछुए पर दिए भाषण का जवाब रामायण की चौपाई पढ़ते हुए विधायक एवं उनके परिवार पर मंदिरों पर कब्जा करने का आरोप लगाया।

विधायक बोले- एसडीएम के खिलाफ दर्ज कराएंगे आपराधिक मामला
श्री द्वारिकाधीश मंदिर समिति की जांच रिपोर्ट पर मंगलवार को पत्रिका की खबर प्रकाशित होने के बाद विधायक डॉ. सीतासरन शर्मा ने एसडीएम हरेंद्र नारायण नोटिस देने की बात कही। विधायक डॉ. सीतासरन शर्मा ने सोशल मीडिया पर पोस्ट डालकर गुरुवार को यह मंतव्य जाहिर किया। पोस्ट में एसडीएम के आरोप को झूठा बताया। उन्होंने एसडीएम के खिलाफ धारा 166,166 ए एवं 167 के तहत आपराधिक प्रकरण दर्ज करने की बात कही।

poonam soni
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned