नगरपालिका के खिलाफ सड़क पर उतरी कांग्रेस

-विधानसभा अध्यक्ष को भी लपेटा
-नपा में चल रहे मनमाने कामों और भ्रष्टाचार पर खुलकर बोले कांग्रेसी

By: Rahul Saran

Published: 07 Jun 2018, 06:53 PM IST

इटारसी। नगरपालिका में भाजपा के आने के बाद से निर्माण कार्यों सहित अन्य कामों में चल रही कथित मनमानी से घुट रहे कांग्रेसियों का मुंह गुरूवार को आखिर खुल ही पड़ा। नपा में चल रही विधायक प्रतिनिधि की मनमानी और भ्रष्टाचार के कामों के विरोध में कांग्रेस के पदाधिकारी और कार्यकर्ता गुरूवार को सड़क पर उतरे। कांग्रेसियों ने नपा के भ्रष्टाचार की अनदेखी करने पर जन आक्रोश रैली से लेकर आमसभा तक में विधानसभा अध्यक्ष डॉ सीताशरण शर्मा को भी लपेटा।

रैली निकाली, जमकर की नारेबाजी
कांग्रेस ने जन आक्रोश रैली का आयोजन रेस्ट हाउस से किया। सुबह 11 बजे से कांग्रेसियों का रेस्ट हाउस में जमा होना शुरू हो गया था। नपा प्रशासन की भ्रष्ट कार्यप्रणाली पर आधारित स्लोगन और नारे लेकर कांग्रेसी रेस्ट हाउस में जमा हुए। रैली में कांग्रेसियों ने नपा प्रशासन के भ्रष्टाचार को लेकर जमकर नारेबाजी की। कांग्रेसियों ने अब तो ये स्पष्ट है-नपा भ्रष्ट है, व्यापारियों पर अत्याचार बंद करो, डॉ शर्मा के राज में-जनता मर रही प्यास, डॉ शर्मा शर्म करो-शर्म करो जैसे नारे लगाए। जब रैली के विधानसभा अध्यक्ष डॉ सीताशरण शर्मा के निवास के सामने पहुंची तो कांग्रेसियों ने नारेबाजी तेज कर दी। इसके बाद रैली नपा कार्यालय की तरफबढ़ गई।

नपा के सामने सभा, खुलकर बोले कांग्रेस
कांग्रेस की जन आक्रोश रैली नपा कार्यालय परिसर पहुंचकर खत्म हो गई। इसके बाद यहां पर आमसभा का आयोजन किया। इस आमसभा में एनएसयूआई से लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं को बोलने के बुलाया गया। कांगे्रस की इस आमसभा में पहली बार कांग्रेस के नेताओं ने खुलकर विधानसभा अध्यक्ष डॉ सीताशरण शर्मा और विधायक प्रतिनिधि कल्पेश अग्रवाल पर तीखे शब्द बाण दागे। पूर्व मंत्री विजय दुबे काकू भाई, कांग्रेस नेता मोहन झलिया, पाली भाटिया, जिला किसान कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष बाबू चौधरी, नगर कांगे्रस अध्यक्ष पंकज राठौर, पूर्व नपाध्यक्ष अनिल अवस्थी, पूर्व एनएसयूआई जिलाध्यक्ष कन्हैया गोस्वामी, प्रवीण गांधी सहित अन्य वक्ताओं ने आमसभा में नपा में चल रहे भ्रष्टाचार के लिए विधायक प्रतिनिधि कल्पेश अग्रवाल और अनदेखी करने के लिए विधानसभा अध्यक्ष डॉ सीताशरण शर्मा को कोसा।

ज्ञापन सौंपा, तेरह बिंदुओं पर जांच की मांग
कांगे्रस पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने एसडीएम राधेश्याम बघेल को जलावर्धन योजना से जलप्रदाय कराने, कच्ची से पक्की दुकान करने की स्पष्ट अनुमति देने, बाजार मूल्य की 1 प्रतिशत प्रीमियम लेकर लीज डीड करने सहित 14 बिंदुओं का ज्ञापन सौंपा। कांग्रेसियों ने ज्ञापन में 13 मुद्दों पर जांच की मांग भी। जिनमें तालाब सौंदर्यीकरण की जांच रिपोर्ट पर कार्यवाही करने, शिक्षक सदन की दुकानें हटाने व दोषियों पर कार्यवाही करने, रोकस की 30 दुकानों का आवंटन निरस्त कर धांधली करने वालों पर कार्यवाही करने, सब्जी मंडी में दुकान निर्माण प्रक्रिया से लेकर आवंटन सूची तक सार्वजनिक करने, पेबल ब्लॉक कार्य व उसका भुगतान सार्वजनिक करने, राधाकृष्ण मार्केट में 35 दुकानों से 43 दुकानें करने, पूड़ी लाइन में अतिरिक्त दुकान बनाकर शासन को राजस्व क्षति पहुंचाने के मामले में, चहेते ठेकेदारों को बिना टेंडर करोड़ों के काम देने, कौशल उन्नयजन योजना में करोड़ों का भ्रष्टाचार करने, बाजार मूल्य से ज्यादा पर सामग्री खरीदने, पुरानी इटारसी के बस स्टेंड पर बिना अुनमति बाउंड्रीवॉल बनाने व पेड़ कटाई के मामले में जांच कर कार्यवाही की मांग की गई है।

भुगतान पर्ची से बताया भ्रष्टाचार
आमसभा में नपा में चल रहे सामान खरीदी के भ्रष्टाचार के प्रमाण के तौर पर नगर कांग्रेस अध्यक्ष पंकज राठौर ने लेजर बुक का मामला सामने रखा। राठौर ने लेजर बुक के एवज में किए गए भुगतान की रसीद दिखाते हुए कहा कि 400 पेज की लेजर बुक बाजार में अच्छी से अच्छी 500 रुपए से 1000 रुपए तक में आ जाती है मगर नपा में उसी लेजर बुक को ३ हजार ९५० रुपए की दर से दो लेजर बुक खरीदी गई हैं। इससे जाहिर होता है कि खरीदी में किस तरह से भ्रष्टाचार चल रहा है।


कांग्रेस नेताओं के बेधड़क बोल
शहर में सट्टा और शराब नहीं बिकने दूंगा की बात कहने वाले विधानसभा अध्यक्ष डॉ शर्मा की गाड़ी में शराब बेचने वाला व्यक्ति साथ बैठकर चल रहा है। यह पूरा शहर देख रहा है। डॉ शर्मा आपके आसपास जितने लोग हैं वे एक से एक नगीने हैं जिन पर कई आरोप हैं जो जनता सब जानती है। मंदिरों की जमीन कैसे हड़पी गई यह पूरे होशंगाबाद जिले को मालूम है। विधानसभा अध्यक्ष डॉ शर्मा ने नपा में जिसकी गारंटी ली थी वह डिफॉल्टर निकल गया है। विधायक प्रतिनिधि कल्पेश अग्रवाल नपा चला रहा है और सांसद प्रतिनिधि को पूछा नहीं जा रहा है। जिन मामलों में शिकायत हुई और उनकी जांच आई तो प्रमुख सचिव से कहकर कौन रुकवा रहा है यह सबको मालूम है।
विजय दुबे काकूभाई, पूर्व मंत्री


नगरपालिका में भ्रष्टाचार चरम सीमा पर है। तालाब सौंदर्यीकरण के नाम पर खुदाई में निकली सैंकड़ों डंपर मिट्टी का कोई हिसाब नही है। नपा की संपत्तियों को बेचने का काम मनमाने तरीके से हो रहा है। लाल रोड में प्लाट, न्यास कॉलोनी में प्लाट किस आधार पर बेचे गए। जब नीलम गांधी के कार्यकाल में ऊपरी तल पर दुकान निर्माण की अनुमति तो विधायक डॉ शर्मा ने विधानसभा में मामला उठवाया तो अब क्या हो गया है कि वे उन्हीं दुकानों पर पैसा लेकर दुकान बनने का विरोध नहीं कर रहे हैं। विधायक डॉ शर्मा के संरक्षण में भ्रष्टाचार चल रहा है और धृतराष्ट्र बनकर बैठे हैं। आपका मौन इस बात को साबित करता है कि इसमें आपकी भी सहमति और आपका भी हिस्सा है।
पंकज राठौर, अध्यक्ष नगर कांग्रेस कमेटी


जो व्यक्ति डॉक्टर, वकील, पढ़ा लिखा है और संवैधानिक पद पर बैठा है उसे नपा में चल रहे भ्रष्टाचार के काम नहीं दिख रहे हैं। इससे अंदाज लगाया जा सकता है कि यदि वह व्यक्ति नपा को तरीके से नहीं चला पा रहा है तो विधानसभा कैसे चलाता होगा। विधायक डॉ शर्मा के संरक्षण में सरकारी अस्पताल, पूड़ी लाइन, सब्जी मंडी में दुकानों की बंदरबांट हुई है जिसमें अपनों को उपकृत किया गया है।
मोहन झलिया, वरिष्ठ कांगे्रस नेता


डॉ शर्मा ने परिवारवाद पैदा कर रखा है। यहां केवल उनकी चलती है। वे जिसमें चाबी भरते हैं वही आगे आता है। उनका कार्यकर्ताओं पर जमकर दबाव रहता है और वे अपनी बात नहीं रख पाते हैं। नपा में उनके संरक्षण जमकर भ्रष्टाचार चल रहा है। नपा में दोनों गेटों पर ताले लगना साबित करता है कि वहां गड़बड़ी है। हमें यह धरना प्रदर्शन विधायक प्रतिनिधि कल्पेश अग्रवाल के घर के सामने करना था क्योंकि पूरी नपा वहां से चल रही है। नपा कार्यालय में ऊपर लगा यह बोर्ड केवल दिखावे का है।
कन्हैया गोस्वामी, पूर्व जिलाध्यक्ष एनएसयूआई


हम कांग्रेस के कार्यकाल की कई उपलब्धि बता सकते हैं। डॉ शर्मा अपने कार्यकाल की एक उपलब्धि बता दें ताकि जनता को भी पता चले। हम बार-बार कहते हैं जो कर्म करे वो कर्मा-जो कुछ ना करे वो डॉ शर्मा। बीओटी, चावल लाइन दुकान निर्माण में अड़ंगा किसने लगाया यह सबको पता है। होशंगाबाद नपाध्यक्ष अखिलेश खंडेलवाल यही काम करे तो डॉ शर्मा विरोध करते हैं और यहां उसी काम का विकास बताते हैं। डॉ शर्मा की सोच है कि उनके कद का व्यक्ति शहर में नहीं होना। वे एमबीबीएस हैं तो शहर में एमडी डॉक्टर कैसे आ सकते हैं। शहर को अमृत नहीं मिला कोई बात नहीं, शहर को पीयूष तो मिल गया है।
विजय चौधरी बाबू, अध्यक्ष जिला किसान कांग्रेस


डॉ शर्मा का नारा है कि नपा में अगर मेरा विरोधी पैसा मांगे तो मुझसे कहें- यदि मेरा समर्थक पैसा मांगे तो उसको सहें। नपा में लूट का लाइसेंस विधायक डॉ शर्मा जिंदाबाद कहने के बाद मिलता है। नपा में कुछ पार्षद ऐसे भी हैं जो पवित्र हैं और नपा की इस लूट में शामिल नहीं है। विधानसभा अध्यक्ष के संरक्षण में शहर को लूटने का काम चल रहा है और वे चुपचाप देख रहे हैं।
पाली भाटिया, पूर्व उपाध्यक्ष जिला कांग्रेस


विधायक डॉ शर्मा के संरक्षण में नपा में इन चार सालों में जमकर भ्रष्टाचार किया है। यह ऐसे डॉक्टर हैं जिन्होंने जनता को दवा नहीं केवल दर्द दिया है। प्रशासनिक अधिकारियों के ट्रांसफर बार-बार होते हैं इसकी जरुरत नहीं है बस एक को ट्रांसफर कर दो सब ठीक हो जाएगा। कांग्रेसशासित नपा के खिलाफ विधानसभा सवाल लगाकर डॉ शर्मा विधानसभा अध्यक्ष बने हैं।
प्रवीण गांधी, कांगे्रस नेता


कार्यक्रम की खास झलकियां
-कांगे्रस के इस आयोजन से प्रदेश कांग्रेस कमेटी सदस्य गुड्डन पांडे, पैनलिस्ट प्रवक्ता राजकुमार उपाध्याय, सेवादल जिलाध्यक्ष शेष मेहरा, अमोल उपाध्याय, पूर्व नपाध्यक्ष रवि जायसवाल, मयूर जायसवाल सहित कई अन्य चेहरे नदारत रहे।
-पूर्व विधायक अंबिका शुक्ला ने नहीं रखे विचार।
-पूर्व मंत्री काकू भाई नपाध्यक्ष सुधा अग्रवाल को बेटा कहते हुए ताकीद किया कि जो गड़बड़ी नपा में चल रही है उसमें जांच हो गई तो दोषी पाए जाने पर सजा तुमको मिलेगी, कल्पेश अग्रवाल को सजा नहीं मिलेगी।े
-नपा कार्यालय को करीब एक सैंकड़ा पुलिसकर्मियों ने घेरे रखा।
-नपा के दोनों गेटों पर तालाबंदी कर दी गई।
-दो बार पुलिस प्रशासन ने टंैट लगाने वाले को भगाया।
-कांग्रेस की महिला पार्षद नदारत रहीं जबकि उनके पति मौके पर मौजूद रहे।
-विधानसभा अध्यक्ष निवास पर भारी पुलिस बल तैनात रहा।

Rahul Saran
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned