क्रिकेट खिलाड़ी को कोषाध्यक्ष बनाने पर जताई आपत्ति

जिला हॉकी संघ की बैठक में विवाद
तोमर डीएचए के अध्यक्ष, गुरयानी सचिव चुने गए

By: krishna rajput

Published: 07 Jan 2019, 11:55 AM IST

इटारसी। जिला हॉकी संघ की एक बैठक रविवार दोपहर में यहां गांधी वाचनालय में हुई। बैठक में दो सदस्यों के बीच जमकर विवाद हुआ। बाद में बाकी सदस्यों ने समझाकर मामल शांत कराया।

बैठक में सर्वसम्मति से नई कार्यकारिणी का गठन हुआ। डीएचए के नए अध्यक्ष के तौर पर वरिष्ठ हॉकी खिलाड़ी राजेंद्र सिंह तोमर को सर्वसम्मति से चुना गया है। नई कार्यकारणी में दो कार्यकारी अध्यक्ष, तीन उपाध्यक्ष, एक सचिव, एक सहसचिव, कोषाध्यक्ष और प्रवक्ता बनाए गए हैं। इस दौरान दो सदस्यों में विवाद भी हुआ।

पूर्व अध्यक्ष सुरेश दुबे के निधन के बाद से हॉकी संघ के अध्यक्ष का पद रिक्त था। जिला हॉकी संघ की हुई बैठक में डीएचए के अध्यक्ष के अलावा अन्य पदों पर भी सर्वसम्मति से पदाधिकारियों का चयन किया है। संघ के सचिव पद की जवाबदारी वरिष्ठ खिलाड़ी और कोच कन्हैया गुरयानी को मिली है। इसके अलावा दो कार्यकारी अध्यक्ष रविन्द्र जोशी और जयराज सिंह भानू, उपाध्यक्ष अरुण राबर्ट, साजिद मलिक, मार्टिन मथियास, सहसचिव शेख नियाज, सह कोषाध्यक्ष रीतेश श्रीवास और प्रवक्ता रोहित नागे सर्वसम्मति से बनाए गए हैं। अभी संघ के कुछ पदों को रिक्त रखा गया है जिसमें जिले के अन्य स्थानों से प्रतिनिधित्व दिया जाएगा। इसके अलावा मैदान समिति और अन्य समितियों में भी चयन होना शेष है।

- चुनाव पर उठ रहे सवाल
रविवार को हुए डीएचए के चुनाव पर सवाल भी उठने लगे हैं। दरअसल जिला हॉकी संघ के चुनाव पर्यवेक्षक के समक्ष संपन्न कराए जाते हैं। रविवार को हुए चुनाव में पर्यवेक्षक नहीं है इससे चुनाव की वैधता पर सवाल उठने लगे हैं।

- डीएचए में क्रिकेट खिलाड़ी होने पर आपत्ति
डीएचए की मीटिंग ११ बजे शुरू हो गई थी। मीटिंग समाप्त होने के बाद लखन बैस पहुंचे। उन्होंने चुने गए पदाधिकारियों की सूची देखने के बाद आपत्ति जताई की पीपल मोहल्ले को प्रतिनिधित्व क्यों नहीं दिया गया तो उन्हें बताया कि गया कि यह मोहल्ले को ध्यान में रखकर नहीं बल्कि जिले को ध्यान में रखकर बनाई गई है। वह आखिरी तक इस पर आपत्ति जताते रहे। इसके बाद उन्होंने मजाकिया अंदाज में इस बात पर आपत्ति जताई कि क्रिकेट खिलाड़ी कुलभूषण मिश्रा को कोषाध्यक्ष क्यों बनाया गया। बाद में विवाद झूमाझटकी तक पहुंच गया था। बैस डीएचए पदाधिकारियों ने वह कई सालों से डीएचए के सदस्य हैं।

ऐसे बढ़ा विवाद
- बैस ने मिश्रा से पूछा लिया कि कभी हॉकी पकड़ी है। तो मिश्रा ने कहा कि आपने कब हॉकी पकड़ी बता दो।
- इस दौरान मिश्रा ने बैस से कहा कि चिल्लाकर बात मत करना। बाद में दोनों के बीच विवाद बढ़ गया और गाली-गलौच होने लगी। बात झूमाझटकी तक पहुंच गई थी।
- बाद में यहां मौजूद संघ पदाधिकारियों ने दोनों को अलग-अलग किया और फिर हाथ मिलवाकर सुलह कराई।

krishna rajput
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned