क्यों चुप है जनप्रतिनिधि-अस्तित्व में आने के पहले समाप्त हो जीएनएम ट्रेनिंग सेंटर

अब नहीं खुलेगा जीएनएम सेंटर, आशा कार्यकर्ताओं को देंगे ट्रेनिंग

इटारसी. सरकारी अस्पताल में कागजों पर ही जीएनएम सेंटर का अस्तित्व समाप्त हो गया। डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी सरकारी अस्पताल के एएनएम सेंटर को उन्नयन किया गया था। एएनएम से जीएनएम में उन्नयन हुआ ट्रेनिंग सेंटर खुल ही नहीं पाया। अब यहां आशा कार्यकर्ताओं को ट्रेनिंग दी जाएगी।

पिछले साल नए सेशन में एडमिशन होने थे जो अभी तक नहीं हुए है। सरकारी अस्पताल में बीते सत्र २०१७-२०१८ सत्र तक एएनएम (आक्सीलरी नर्स एंड मिडवायफरी) मतलब महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ता की ट्रेनिंग दी जा रही थी। एएनएम की ट्रेनिंग दो साल की होती है और एएनएम का आखिरी बैच समाप्त होने के बाद यहां फिर कोई ट्रेनिंग नहीं हुई।

जीएनएम सेंटर स्वीकृत हुआ लेकिन नहीं खुला
एएनएम सेंटर का उन्नयन होने के बाद जीएनएम ट्रेनिंग सेंटर बना दिया गया लेकिन यहां कोई बैच शुरू नहीं हुआ। पहले असमंजस था कि यहां जीएनएम, बीएससी नर्सिंग या पीएचडी नर्सिंग सेंटर खोला जाएगा। बाद में जीएनएम सेंटर स्वीकृत हो गया था। फिर जानकारी मिली कि जीएनएम सेंटर में सितंबर में एडमिशन होंगे। इसके बाद अक्टूबर से नया बैच यहां आएगा लेकिन फिर कोई बैच नहीं आया।

छात्राओं को मिलता लाभ
ट्रेनिंग सेंटर का उन्नयन होने से अस्पताल के साथ ही ज्यादा छात्राओं को को प्रशिक्षण मिलता। इससे प्रशिक्षण लेने वाली 180 छात्राएं प्रशिक्षण के दौरान यहां अपनी सेवा भी देतीं जिससे अस्पताल को हेल्प मिलती लेकिन अब यह नौबत आ गई है कि छात्राओं को दूसरे शहरों में ट्रेनिंग करने जाना होगा।

आशा कार्यकर्ताओं ट्रेनिंग
अब प्रशिक्षण केंद्र में आशा कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण दिया जाएगा। आशा कार्यकर्ता शहर के विभिन्न वार्डों में जाकर स्वास्थ्य की विभिन्न योजनाओं के बारे जानकारी देने का काम करती हैं इसके साथ स्वास्थ्य विभाग से समय-समय पर सौंपे गए कामों को भी आशा कार्यकर्ताओं द्वारा किया जाता है। किसी स्वास्थ्य संबंधी कार्यक्रम को आशा कार्यकर्ताओं से कराने के पहले ट्रेनिंग दी जाती है यह ट्रेनिंग अब प्रशिक्षण केंद्र में दी जाएगी।

कोई नया बैच नहीं भेजा गया है। यह शासन का निर्णय है। फिलहाल यहां आशा कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण दिया जाएगा।
डॉ. दिनेश कौशल, सीएमएचओ होशंगाबाद

krishna rajput
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned