scriptItarsi traders stuck around Rs 15 crore due to wheat export ban | गेंहू निर्यात प्रतिबंध से इटारसी के व्यापािरयों के लगभग 15 करोड़ रुपए अटके | Patrika News

गेंहू निर्यात प्रतिबंध से इटारसी के व्यापािरयों के लगभग 15 करोड़ रुपए अटके

- विरोध में व्यापारियों ने नहीं की नीलामी.

इटारसी

Updated: May 18, 2022 02:29:53 pm

इटारसी। केंद्र सरकार के गेहूं के निर्यात पर प्रतिबंध लगाने से मंडी व्यापारियों में नाराजगी है। उक्त कारण से स्थानीय व्यापारियों के लगभ 15 करोड़ रुपए का भुगतान अटक गया है। केंद्र के निर्णय के विरोध में मंगलवार को मध्यप्रदेश सकल अनाज दलहन तिलहन व्यापारी महासंघ के आह्वान पर इटारसी मंडी बंद रही।
गेंहू निर्यात प्रतिबंध से इटारसी के व्यापािरयों के लगभग 15 करोड़ रुपए अटके
गेंहू निर्यात प्रतिबंध से इटारसी के व्यापािरयों के लगभग 15 करोड़ रुपए अटके
मंडी के व्यापारी अनिल राठी ने कहा कि यहां नीलामी नहीं हुई, वही किसानों को भी पूर्व जानकारी मिलने से वे मंडी नहीं आए। व्यापारियों ने बुधवार को भी मंडी में खरीदी बंद रखने की घोषणा की है। उन्होंने बताया कि 08-10 बड़े व्यापारियों का लगभग 10 से 20 हजार टन गेंहू इटारसी से कांडला बंदरगाह को निर्यात के लिए पिछले सप्ताह रैक के माध्यम से भेजा गया। इसकी लगभग 10 से 15 करोड़ रुपए का भुगतान निर्यात के बाद ही मिलेगा। तब तक व्यापारियों को इंतजार करना पड़ेगा।

मंडी में गिर सकते गेंहू के भाव


राठी ने बताया कि केंद्र सरकार के निर्यात पर अचनाक रोक लगने से कांडला बंदरगाह व अन्य स्थानों पर हजारों ट्रक फंसे पड़े हैं। एक्सपोर्ट करने वाली कम्पनियां माल नहीं उठा रही है, जिससे अनिश्चितता की स्थित बन गई है। गेहूं निर्यात पर प्रतिबंध से व्यापारियों और किसानों को भी नुकसान होगा, जो माल पहले मंडी में 2100 से 2300 तक बिक रहा था, अब वो 1800 से 1900 तक ही बिकेगा।

पांच दिन से बंद है कृषि उपज मंडी
पिछले पांच दिनों से लगातार इटारसी का कृषि उपज मंडी बंद पड़ा है। इससे किसान उपज लेकर नहीं आ पा रहे हैं। मंडी के अधिकारियों के अनुसार 14 मई को दूसरा शनिवार, 15 को रविवार और 16 मई को बुद्ध पूर्णिमा की अवकाश होने से लगातार मंडी बंद थी, वहीं अब मंगलवार और बुधवार को नीलामी नहीं होने से मंडी लगातार पांच दिनों से बंद पड़ी है।

कांडला में इटारसी के नहीं फंसे ट्रक


नर्मदापुरम- इटारसी जिला ट्रक ओनर्स एसोसियेशन के अध्यक्ष अजय मिश्रा ने बताया कि 14 मई से पहले जिले से निकले ट्रक कांडला पहुंचकर खाली होकर वापस आ गए हैं। अब चूंकि प्रतिंबध लगा है। ऐसे में स्थानीय व्यापारी भी ट्रक लोड नहीं कर रहे हैं। अगर प्रतिबंध हटा, तो फिर से गेंहू के ट्रक भेजने शुरू हो जाएंगे।

कृषि मंडी परिसर में फैला पड़ा 25 हजार से अधिक बोरी गेंहू


मंडी के कर्मियों के अनुसार इटारसी के कृषि उपज मंडी परिसर में पिछले 14 मई तक आए गेंहू के 25 हजार से अधिक बोरी आवक खुले में पड़ी है। चूंकि 05 दिन से मंडी बंद थी। इसलिए हमाल इसे बोरियों में आज से भरना शुरू किया है। वही ट्रांसपोर्टर्स भी संभवत: बुधवार से इन बोरियों को वेयरहाउस ले जाएंगे।

वर्जन


केंद्र सरकार के गेंहू निर्यात पर अचानक प्रतिबंध से मंडी परिसर में गेंहू की ढेरी लग गई है। चूंकि पिछले 4 दिन से मंडी बंद है। बुधवार तक अगर ये गेंहू नहीं उठा, तो गुरुवार से एकदम से आवक बढऩे से गेंहू को रखने में समस्या आ सकती है। हमने व्यापारियों से भी अपील की है।
- राजेश मिश्रा, सचिव कृषि उपज मंडी समिति, इटारसी।
--

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Amravati Murder Case: उमेश कोल्हे की हत्या का मास्टरमाइंड नागपुर से गिरफ्तार, अब तक 7 आरोपी दबोचे गए, NIA ने भी दर्ज किया केसमोहम्‍मद जुबैर की जमानत याचिका हुई खारिज,दिल्ली की अदालत ने 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजाSharad Pawar Controversial Post: अभिनेत्री केतकी चितले ने लगाए गंभीर आरोप, कहा- हिरासत के दौरान मेरे सीने पर मारा गया, छेड़खानी की गईIndian of the World: देवेंद्र फडणवीस की पत्नी अमृता फडणवीस को यूके पार्लियामेंट में मिला यह पुरस्कार, पीएम मोदी को सराहाGujarat Covid: गुजरात में 24 घंटे में मिले कोरोना के 580 नए मरीजयूपी के स्कूलों में हर 3 महीने में होगी परीक्षा, देखे क्या है तैयारीराज्यसभा में 31 फीसदी सांसद दागी, 87 फीसदी करोड़पतिकांग्रेस पार्टी ने जेपी नड्डा को BJP नेता द्वारा राहुल गांधी से जुड़ी वीडियो शेयर करने पर लिखी चिट्ठी, कहा - 'मांगे माफी, वरना करेंगे कानूनी कार्रवाई'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.