scriptKnow the benefits of teaching children in government colleges | जानिए, सरकारी कॉलेजों में बच्चों को पढ़ाने के फायदे | Patrika News

जानिए, सरकारी कॉलेजों में बच्चों को पढ़ाने के फायदे

- कॉलेजों में जारी रहेंगी मेधावी, स्कॉलरशिप व गांव की बेटी योजनाएं.

इटारसी

Updated: April 16, 2022 01:55:26 pm

इटारसी। कॉलेजों में आगामी सत्र के लिए एडमिशन प्रक्रिया में मेधावी, स्कॉलरशिप व गांव की बेटी सहित योजनाएं जारी रहेंगी। छात्र इनका फायदा उठा सकते हैं। उच्च शिक्षा विभाग के जारी निर्देशों के अनुसार मेधावी छात्र, गांव की बेटी सहित कॉलेजों में एडमिशन, फीस और स्कॉलरशिप से जुड़ी 16 सरकारी योजनाएं बंद नहीं होंगी। ये नए सत्र में भी जारी रहेंगी।
जानिए, सरकारी कॉलेजों में बच्चों को पढ़ाने के फायदे
जानिए, सरकारी कॉलेजों में बच्चों को पढ़ाने के फायदे

शहर के एमजीएम और शासकीय गल्र्स कॉलेजों के लगभग 7 हजार से अधिक छात्र- छात्राओं को इन योजनाओं का लाभ मिल सकेगा। शासन ने स्पष्ट कर दिया है कि कोई भी योजना बंद नहीं होगी और न ही किसी योजना का बजट कम होगा। इस साल भी योजनाओं का फायदा विद्यार्थियों को मिलेगा। इनमें ज्यादातर योजनाएं बेटियों के लिए हैं।

0. मेधावी छात्र योजना- जिन विद्यार्थियों को 12 वीं में किसी भी विषय में 70 प्रतिशत अंक (एमपी बोर्ड) और सीबीएसई 12वीं परीक्षा में 85 प्रतिशत अंक मिलेंगे, तो कॉलेज में मुफ्त प्रवेश मिलेगा। मुख्यमंत्री मेधावी योजना सभी कैटेगिरी के लिए है। इसमें कोई जातिगत बंधन नहीं है। सिर्फ परिवार की आमदनी 6 लाख रुपए सालाना से ज्यादा नहीं होना चाहिए।

0. गांव की बेटी योजना - अधिकतर ग्रामीण छात्राएं कमजोर आर्थिक स्थिति के कारण पढ़ाई से वंचित रह जाती हैं। इन योजनाओं में पीएससी की तैयारी तक शामिल है। इसलिए इनके जारी रहने का फायदा हजारों ग्रामीण छात्र-छात्राओं को मिलेगा।

0 विदेश में उच्च शिक्षा - इसमें अनारक्षित वर्ग के प्रतिभाशाली विद्यार्थियों को एमबीए सहित तमाम पीजी कोर्स तथा पीएचडी के लिए 40 हजार डॉलर प्रति वर्ष (दो साल तक) दिए जाते हैं।


0 प्रतिभा किरण योजना - इसमें शहर के स्कूलों से प्रथम श्रेणी में 12वीं पास होने पर बीपीएल कार्डधारी छात्राओं को पांच हजार रुपए प्रोत्साहन राशि दी जाती है।
0 पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति - इस योजना में अन्य पिछड़ा वर्ग, अनूसुचित जाति, जनजाति, विद्यार्थियों को होस्टल में 570 रुपए प्रतिमाह और अलग से रहने वालों को 300 रुपए दिए जाते हैं।

0 शोध छात्रवृत्ति - इसमें अजा-जजा विद्यार्थियों को 16 हजार रुपए हर माह तीन साल तक मिलते हैं। यह चयनित छात्रों को ही दी जाती है।


0 अन्य योजनाएं - सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी के लिए कोचिंग, विज्ञान व सामाजिक विषयों पर प्रवेश के लिए प्रोत्साहन योजना, अल्पसंख्यक छात्रों की मिलने वाली छात्रवृति, सेंट्रल सेक्टर योजना, मुख्यमंत्री विद्यार्थी जनकल्याण योजना, आवास योजना, दिव्यांगों के लिए योजना, मुफ्त स्टेशनरी और किताबों के लिए दी जाने वाली योजना।

वर्जन


मप्र शासन ने महाविद्यालयीन छात्र- छात्राओं को मिलने वाली सारी सरकारी योजनाएं नए लागू रखा है। इसका लाभ नए सत्र के छात्र- छात्राओं को मिल सकेगा।
- डा. पीके पगारे, प्राचार्य, शासकीय एमजीएम कॉलेज इटारसी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीचंडीमंदिर वेस्टर्न कमांड लाए गए श्योक नदी हादसे में बचे 19 सैनिकआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितराहुल गांधी ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा - 'नेहरू ने लोकतंत्र की जड़ों को किया मजबूत, 8 वर्षों में भाजपा ने किया कमजोर'Renault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चIPL 2022, RR vs RCB Qualifier 2: 14 ओवर के बाद आरसीबी 3 विकेट के नुकसान पर 111 रनपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.