scriptRail line of 350 crores, rail will come out of 2150 meter long tunnel | 350 करोड़ की रेल लाईन, 2150 मीटर लंबी सुरंग से निकलेगी रेल, कम हो जाएगी कई शहरों की दूरी | Patrika News

350 करोड़ की रेल लाईन, 2150 मीटर लंबी सुरंग से निकलेगी रेल, कम हो जाएगी कई शहरों की दूरी

रेल मार्ग से एक शहर को दूसरे शहर को जोडऩे के लिए रेलवे कई परियोजनाओं पर काम कर रहा है.

इटारसी

Published: May 26, 2022 09:53:06 am

इटारसी. रेल मार्ग से एक शहर को दूसरे शहर को जोडऩे के लिए रेलवे कई परियोजनाओं पर काम कर रहा है, ऐसे में मध्यप्रदेश में दो बड़ी परियोजनाओं पर करीब 350 करोड़ रुपए खर्च कर रेल लाइन तैयार की जा रही है, इस लाइन पर करीब 2150 मीटर की करीब 5 लंबी सुरंगें बनेगी, इन सुरंगों से जब ट्रेन निकलेगी, तो यात्रियों को भी आनंद की अनुभूति होगी, इन परियोजनाओं के साथ ही रेलवे कई छोटी-छोटी योजनाओं पर भी काम कर रहा है, जिससे कई बड़े शहरों की दूरी कम हो जाएंगी और वे बस मार्ग की अपेक्षा रेल मार्ग से काफी नजदीक हो जाएंगे।

railway1.jpg

बरखेड़ा से इटारसी तक 92 किमी थर्ड लाइन और पवारखेड़ा से इटारसी (जुझारपुर) तक बायपास ट्रैक बन रहा है। थर्ड लाइन और बायपास ट्रैक से रेल यातायात बेहतर होने सहित नर्मदापुरम विकास पथ पर अग्रसर होगा। टनल-5 पर लाइनिंग का काम पूरा किया गया है। बरखेड़ा से इटारसी तक बन रही थर्ड लाइन का काम मार्च 202३ तक पूरा होगा। घाट सेक्शन में 5 सुरंगें, 13 प्रमुख पुल और 49 छोटे पुल हैं।


20 अंडरपास, वन्यजीवों के लिए 60 डैम भी
वन्य जीव संरक्षण के लिए इस लाइन पर 5 ओवरपास, 20 अंडरपास, वन्य जीवों को पानी पीने के लिए 6 डैम का निर्माण किया जा रहा है। इसके अलावा एक जल भंडार जिस पर सौर ऊर्जा से संचालित बोरवेल रेलवे द्वारा लगाया गया है। टनल निर्माण में अंदर इनवर्ट सफाई, पीसीसी, नोफाइन कांक्रीट, 115 मिमी व्यास वाले सेंट्रल ड्रेन, 160 मिमी व्यास के साइड ड्रेन एवं निचले हिस्से में आरसीसी के उच्च गुणवत्ता वाली सामग्री से निर्माण किया जा रहा है।

परियोजना 1 - पवारखेड़ा-इटारसी बायपास डाउन ट्रैक
लागत - 100 करोड़ रुपए
लंबाई - 11.३50 किमी
बड़े ब्रिज - 02
छोटे ब्रिज- 09, अंडरब्रिज -09
इन गांवों में जमीन अधिग्रहित- जुझारपुर, बोरतलाई, मेहरागांव, गौंचीतरौंदा, साकेत, ब्यावरा, देहरी।

परियोजना 2 - पवारखेड़ा-जुझारपुर बायपास अप ट्रैक
लागत - 250 करोड़ रुपए
लंबाई - 15 किमी
बड़े ब्रिज - 02
छोटे ब्रिज - 18
इन गांवों में जमीन अधिग्रहित- रैसलपुर, सोनासांवरी, इटारसी, घाटली, पथरौटा, देहरी, जुझारपुर।

घाट सेक्शन में बन रही टनल
टनल -1 : लंबाई 1080 मीटर
टनल-2 : लंबाई 200 मीटर
टनल-३ : लम्बाई 200 मीटर
टनल-4 : लम्बाई 140 मीटर
टनल -5 : लंबाई 5३0 मीटर

सबसे चुनौतीपूर्ण रही 5 नंबर टनल
वरिष्ठ मण्डल वाणिज्य प्रबंधक विजय प्रकाश ने बताया कि इन सभी टनलों में सबसे चुनौतीपूर्ण कार्य टनल-5 की 5३0 मीटर डबल ट्रैक का निर्माण रहा। जिसमें 500 मीटर वक्रीय कार्य और 14.4 मीटर चौड़ाई का कार्य बिना किसी त्रुटि के पूर्ण किया गया। टनल 4 एवं 5 में एक वन्यजीव अभयारण्य है। जिसमें पर्यावरण संरक्षण के नियमों का पालन किया गया है।

बायपास ट्रैक से फायदे
भोपाल से नागपुर की तरफ आने और जाने वाली सभी थ्रू ट्रेनों को इसी ट्रैक से चलाया जाएगा। इसके अलावा मालगाडिय़ों को भी सीधे इसी ट्रैक से चलाया जाएगा। जिसका सबसे ज्यादा फायदा इटारसी स्टेशन को होगा। स्टेशन पर आने वाली थ्रू ट्रेनों का दबाव कम होगा। इससे ट्रेनों को आउटर पर रोकने की समस्या खत्म होगी।

photo_2022-05-26_09-40-34.jpgघोड़े की नाल जैसी टनल
बरखेड़ा-बुदनी घाट सेक्शन में निर्माणाधीन टनल-05 पर लाइनिंग का काम हर तरह से पूरा हो गया है। यानी इनवर्ट लाइनिंग और ओवर्ट लाइनिंग का कार्य पूरा कर लिया गया है। इस खंड में निर्माणाधीन 5 सुरंगों में से यह पहली सुरंग है, जिसमें सभी तरह से लाइनिंग पूरी की गई है। बैलास्ट लेस ट्रैक का कार्य प्रगति पर है। सुरंग की कुल लंबाई 5३4 मीटर है। क्रॉस-सेक्शन 118-125 वर्गमीटर के बीच है। यह एक डबल ट्रैक (लाइन) सुरंग है। आमतौर पर रेलवे में इस प्रकार के बड़े क्रॉस-सेक्शन की रेल सुरंगों का निर्माण नहीं किया जाता है। न्यू ऑस्ट्रियन टनलिंग पद्धति तकनीक से खुदाई में 1३.2 मीटर व्यास, घोड़े की नाल के आकार की सुरंग बनाई गई।
कमलापति से इटारसी तक 92.92 किलोमीटर ट्रैक
भोपाल-इटारसी रेल खण्ड में तीसरी लाइन के निर्माण कार्य में रानी कमलापति-बरखेड़ा 41.42 किमी, बरखेड़ा-बुदनी 26.5 किमी एवं बुदनी-इटारसी 25 किमी का कार्य रेल विकास निगम लिमिटेड (आरवीएनएल) कर रही है। बरखेड़ा से बुदनी (घाट सेक्शन) के मध्य निर्माणाधीन 26.50 किलोमीटर रेल लाइन तिहरीकरण खंड के निर्माण कार्य में तेजी आई है। जिसमें से रानी कमलापति से बरखेड़ा और बुदनी से इटारसी के बीच तीसरी लाइन का निर्माण कार्य पूर्ण हो चुका है। बरखेड़ा से बुदनी का निर्माण कार्य प्रगतिशील है।
यह भी पढ़ें : बेफिक्री ने दोगुना किए कोरोना के मरीज- 24 घंटे में कितने लोग हुए संक्रमित

250 करोड़ रुपए से बन रहे दो बायपास ट्रैक
नर्मदापुरम और इटारसी के बीच रेलवे दो बायपास बना रही है। पवारखेड़ा से खेड़ा होते हुए जुझारपुर तक बनाया जा रहा बायपास ट्रैक का काम जून 2022 तक पूरा करने का दावा किया जा रहा है। ज्ञात हो कि रेल बजट 2021-22 में इटारसी पवारखेड़ा से जुझारपुर तक 15 किमी बायपास अप ट्रैक बनाया जा रहा है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

Maharashtra Politics: डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस ने मंत्रिमंडल विस्तार पर दिया बड़ा बयान, विदर्भ के विकास को लेकर भी कही यह बातएमपी के इन दो शहरों में हो सकता है G 20 शिखर सम्मेलन, शुरु हुई आयोजन की तैयारियांUdaipur kanhaiya lal Murder: चिकन शॉप से खुलेंगे कन्हैया हत्याकांड के राज...!सुपरटेक ट्विन टावर गिरने से आसपास नहीं होगा नुकसान, कंपनी ने तैयार किया खास प्लानदूल्हे भगवान जगन्नाथ को नहीं लगे नजर, पट हुए बंददूरियां कितनी हुई कम, एक ही दिन में बीजेपी के दो बड़े नेता अलग अलग समय पर पहुंचे कन्हैयालाल के घरPresident Election 2022 : पटना में द्रौपदी मुर्मू ने NDA के नेताओं से मांगा समर्थन, सीएम नीतीश से की मुलाकात, गुवाहाटी के लिए हुई रवानाभारी बारिश से मध्य प्रदेश में बाढ़ ही बाढ़, इन राज्यों से संपर्क टूटा, पुल से डेढ़ फीट ऊपर बह रही नदी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.