शिक्षक को छुड़ाने पहुंची पुलिस को भी ग्रामवासियों ने बनाया बंधक

शिक्षक को छुड़ाने पहुंची पुलिस को भी ग्रामवासियों ने बनाया बंधक

Krishna Singh | Publish: Sep, 06 2018 09:36:23 PM (IST) Itarsi, Madhya Pradesh, India

तीन घंटे बंधक रहे शिक्षक और पुलिसकर्मी
सोनतलाई के शासकीय प्राथमिक शाला का है मामला

इटारसी. सोनतलाई के शासकीय प्राथमिक शाला में पांचवीं कक्षा की एक छात्रा से शिक्षक ने छेड़छाड़ की है। इस बात की जानकारी लगने के बाद भड़के छात्रा के परिजन और गांव के लोग स्कूल के पास एकत्रित हो गए। यहां एकत्रित लोगों ने स्कूल के शिक्षक की जमकर धुनाई की और फिर स्कूल भवन में ही शिक्षक बंद कर दिया। जब शिक्षक को तवानगर पुलिस छुड़ाने पहुंची तो पुलिसकर्मियों को भी गांव वालों ने स्कूल के अंदर बंद कर दिया है। यह मामला गुरूवार की शाम करीब ४ बजे के आसपास हुआ है।

शासकीय प्राथमिक शाला सोनतलाई में सोनतलाई निवासी शिक्षक संतोष कुमार मीना द्वारा चौथी कक्षा की एक छात्रा से छेड़छाड़ की गई थी। शिक्षक ने बुधवार को करीब २.३० बजे छात्रा को पानी के बहाने बुलाया और उसके साथ छेड़छाड़ की। गुरूवार को जब बच्ची ने स्कूल जाने से मना किया तो उसकी मां स्कूल नहीं जाने का कारण पूछा तब बच्ची ने डरते हुए पूरा घटनाक्रम बताया। परिजन सुबह इस बात को लेकर शिक्षक से बात करने पहुंचे थे लेकिन शिक्षक परिजनों से ही विवाद करने लगा। बाद में शाम को छात्रा के परिजनों के साथ गांव के अन्य लोग भी एकत्रित हो गए और फिर स्कूल घेरकर शिक्षक की धुनाई कर दी। इसके बाद उसे कुछ लोगों ने स्कूल के अंदर बंद कर दिया।

तीन घंटे बंद रहे पुलिस और शिक्षक
गांव के लोगों की सूचना पर यहां तवानगर पुलिस शाम करीब ५ बजे पहुंची। यहां पहुंचे पुलिस कर्मी बात कर रहे थे लेकिन नाराज ग्रामवासी पुलिस कर्मियों की बात से संतुष्ट नहीं हुए और भड़ककर पुलिसकमियों को भी स्कूल के अंदर बंद कर दिया और कलेक्टर को बुलाने की मांग करने लगे।

कड़ी कार्रवाई के आश्वाासन पर हटे ग्रामवासी
जब गांव वाले नहीं माने तो एसडीएम वंदना जाट, एसडीओपी उमेश द्विवेदी, नायब तहसीलदार एनपी शर्मा और इटारसी थाने से पुलिस बल गांव पहुंचा। अधिकारियों ने ग्रामवासियों से बात की और कड़ी कार्रवाई करने का आश्वासन दिया। बाद में अधिकारियों ने शिक्षक को पुलिसकर्मियों के सुरक्षा घेरे में इटारसी थाने लेकर आए।

शिक्षक द्वारा एक छात्रा से छेड़छाड़ की घटना हुई है। बच्ची का मेडिकल कराया जाएगा इसके बाद शिक्षक पर अपराध दर्ज किया जाएगा।
उमेश द्विवेदी, एसडीओपी इटारसी

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned