उत्तप्रदेश के आगरा का रहने वाला था मृतक, नौ दिन पहले हुई थी हत्या

उत्तप्रदेश के आगरा का रहने वाला था मृतक, नौ दिन पहले हुई थी हत्या

Krishna Singh | Publish: Dec, 08 2018 08:54:04 PM (IST) Itarsi, Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

१ दिसंबर को हुई थी हत्या
रैनबसेरा के पास रहटगांव के युवक ने किया था हमला

इटारसी. नौ दिन पहले बीच बाजार में हुई हत्या के मारे गए युवक की शिनाख्त हो गई है। युवक की पहचान उत्तप्रदेश आगरा थाना रकाबगंज के बौद्ध विहार चकी पाट निवासी ज्ञानरतन पिता होतमचन्द्र मणिक उम्र 24 वर्ष के रूप में हुई है। शनिवार को युवक का शव कब्र से निकलवाकर उसके परिजनों को सुपुर्द किया गया।

मृतक के पिता होतमचन्द्र, मां कंचन देवी, भाई महारत्न, देशरत्न इटारसी आए। पुलिस द्वारा नायब तहसीलदार की उपस्थिति में मृतक के शव को निकलवाया। मृतक के परिजनों ने आवश्यक कार्यवाही के बाद दाह संस्कार स्थानीय मुक्तिधाम में किया।

यह हुई थी घटना
हरदा रहटगांव निवासी बादल धुर्वे और मृतक प्रचलित नाम सोनू उर्फ सुनील (ज्ञानरत्न) दोनों ट्रेनों में सामान बेचते थे। दोनों के बीच विवाद हुआ था। इसके बाद बादल धुर्वे ने १ दिसंबर को सुबह इटारसी रेलवे स्टेशन के सामने रैनबसेरा के पास चाकू से हमला कर हत्या कर दी थी।

ऐसे मिला युवक का पता
टीआई विक्रम रजक ने बताया कि मृतक की पहले प्रचलित नाम से पहचान हुई थी लेकिन स्थाई पता और परिजनों के बारे को जानकारी नहीं मिली थी। मृतक की पूरी जानकारी जुटाने के लिए पुलिस की अलग-अलग टीमें बनाकर भोपाल, घोड़ाडोंगरी, बैतूल और बनारस भेजी गई। बनारस में पुलिस को जानकारी मिली की मृतक बनारस रेलवे स्टेशन के सामने जूता पॉलिश करने का काम करता था तथा स्वयं को आगरा उत्तरप्रदेश का बताता था। इस जानकारी के आधार पर पुलिस टीम ने आगरा पहुंचकर जानकारी एकत्रित की तो उक्त मृतक की शिनाख्त ज्ञानरतन पिता होतम चन्द्र मणिक के रूप में उसके परिजनों मृतक की फोटो देखकर की।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned