जबलपुर शहर के नामी चिकित्सक को जेल में बंद बदमाश के नाम पर मांगी गई 10 लाख की रंगदारी

‘24 घंटे में 10 लाख नहीं दिए तो नहीं देख पाओगे चार मार्च का सूरज ’
-जबलपुर शहर के नामी चिकित्सक को जेल में बंद बदमाश के नाम पर मांगी गई 10 लाख की रंगदारी, पुलिस सकते में

By: santosh singh

Published: 03 Mar 2019, 06:59 PM IST

जबलपुर। ‘24 घंटे में मेरे लडक़ों के पास 10 लाख रुपए नहीं पहुंची तो चार मार्च का सूरज नहीं देख पाएगा, जल्दी कर बस 24 घंटे हैं तेरे पास, पुलिस के पास जाने की तुझे सजा मिलेगी, गलत आदमी के हाथ चढ़ गया तू, जवाब न देने की भी सजा तुझे मिलेगी, कल आठ बजे तक मेरे अड्डे में पैसे पहुंच जाने चाहिए, वरना मेरे कट्टे से पीतल निकलेगा और तुम्हारे शरीर में जाएगा।’ ये रंगदारी जेल में निरूद्ध एक बदमाश के नाम पर शहर के नामी चिकित्सक को वाट्सअप पर भेजी गई है। चिकित्सक की शिकायत पर पुलिस सकते में आ गयी है।

शनिवार रात 10.30 बजे वाट्सअप पर आया मैसेज
मदनमहल पुलिस के अनुसार नया गांव रामपुर निवासी एवं चिकित्सक डॉ. तरूण नागपाल शनिवार की रात मरीज देखने आदित्य अस्पताल गए थे। वहां रात 10.30 बजे उनके मोबाइल पर छोटू चौबे के नाम से वाट्सअप मैसेज आया, जिसमें धमकी देते हुए 10 लाख की मांग की गई। चिकित्सक ने रविवार को बस स्टैंड चौकी में शिकायत दी। जिस पर पुलिस ने धारा 384,506,507, भादवि एवं 66 ए आईटी एक्ट का प्रकरण दर्ज करते हुए जांच में लिया है।
दिसम्बर से जेल में बंद है छोटू
पुलिस को ये पहली नहीं समझ में आ रही है कि जिस छोटू चौबे के नाम पर चिकित्सक से रंगदारी मांगी गई है, वह दिसम्बर से जेल में है। ओमती पुलिस ने मारपीट के मामले में उसे गिरफ्तार किया था। ये मैसेज इंटरनेट का प्रयोग कर दिया गया है।

पहले भी गोरखपुर में आ चुका है ऐसा मामला

इसके पूर्व इसी तरह गोरखपुर व्यापारी संघ के अध्यक्ष से भी इसी तरह की रंगदारी मांगी गई थी। गोरखपुर में दर्ज इस प्रकरण की जांच हुई, तो पता चला कि ये रंगदारी उसके नाम का प्रयोग कर इंदौर के रहने वाले युवक ने किया था। उक्त युवक गोरखपुर निवासी लक्की उर्फ जिशान अली का रिश्तेदार है।

 

santosh singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned