10 वर्षीय बालक का अपहरण, नरबलि की आशंका में परिजन बेहाल

48 घंटे बाद भी नहीं मिला अगवा हुआ बादल का सुराग, चरगवां थाना क्षेत्र का मामला
पुलिस संदिग्धों को हिरासत में लेकर कर रही पूछताछ

By: santosh singh

Published: 10 Apr 2019, 01:32 AM IST

जबलपुर. चरगवां थाना क्षेत्र के सगड़ा निवासी 10 वर्षीय बालक के अपहरण की गुत्थी पुलिस दूसरे दिन भी नहीं सुझला सकी। परिजन और ग्रामीण 48 घंटे के दौरान 10 गांवों के नदी, तालाब, कुआं, खलिहान, खाई, खेत, बाड़ी आदि जगह तलाश कर चुके हैं, लेकिन उसका पता नहीं चला। बेटे के इस तरह से गायब होने से माता-पिता का रो-रो कर बुरा हाल है। पुलिस ने कुछ संदेहियों को हिरासत में लेकर पूछताछ भी की, लेकिन कोई सुराग नहीं मिला। बालक के नरबलि सहित कई तरह की आशंकओं ने घरवालों को बेचैन कर रखा है।
सोमवार सुबह घर से निकला था खेलने
जानकारी के अनुसार सगड़ा गांव निवासी उत्तर गिरि का बेटा बादल (10) सोमवार सुबह करीब 10 बजे मोहल्ले में खेलने के लिए निकला था। दोपहर तक बादल घर नहीं लौटा तो मां ममता ने उसकी तलाश शुरू की। इसके बाद परिजन ने अपहरण का मामला दर्ज कराया। परिजन के अनुसार एक लडक़ी ने बादल को चक्की वाले साहबलाल के साथ देखा था, इसके बाद से उसका पता नहीं है।
इकलौता बेटा था
बादल के बड़े पिता सतमन गिरि गोस्वामी ने बताया, वह उनके छोटे भाई का इकलौता बेटा है। उससे छोटी एक बेटी है। बादल के गायब होने से पूरे गांव में किसी के घर चूल्हा नहीं जला।
दस गांवों में हर घर की तलाशी
सगड़ा के बगल में ही बिजौरी गांव है। बच्चे के अपहरण की सूचना पर वहां के लोगों ने भी एक-एक कर दस गांवों में हर घर की तलाशी ली, पर उसका कहीं पता नहीं चला।
मां बेसुध
बेटे के लापता होने का सदमा मां ममता बर्दाश्त नहीं कर पा रही है। वह रह-रह कर बेसुध हो जा रही है। उसने सोमवार से एक बूंद पानी तक नहीं पीया। रिश्तेदारों का ढांढ़स भी उसे सांत्वना नहीं दे पा रहा है। एएसपी रायसिंह नरवरिया ने बताया, बादल के परिजन की किसी से दुश्मनी भी नहीं है।

Show More
santosh singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned