script1010 metric ton urea scam: Fear of selling in open market | 1010 मीट्रिक टन यूरिया घोटाला: खुले बाजार में बेचने की आशंका | Patrika News

1010 मीट्रिक टन यूरिया घोटाला: खुले बाजार में बेचने की आशंका

1010 मीट्रिक टन यूरिया घोटाला: खुले बाजार में बेचने की आशंका

जबलपुर

Updated: September 14, 2022 11:05:07 am

जबलपुर। पांच जिलों के लिए रवाना हुआ डबल लॉक का यूरिया अब तक शासन को नहीं मिल पाया है। इसकी मात्रा एक हजार 10 मीट्रिक टन है। इसे खुले बाजार में बेचकर फायदा लिया गया है। डबल लॉक में इसकी कीमत 266 रुपए है। वहीं खुले बाजार में कुछ विक्रेता इन बोरियों को 350 रुपए से लेकर 450 रुपए तक में बेच देते हैं।

urea
1010 metric ton urea scam: Fear of selling in open market

अभी तक बरामद नहीं हो सका गायब हुआ यूरिया, जांच जारी

पुलिस की एसआइटी को भी जांच पड़ताल में ऐसे ही कुछ प्रमाण मिले हैं। अभी जांच चल रही है। इस मामले में कृभको श्याम, सप्लायर और रैक हैंडलर पर पुलिस ने मामला कायम किया है। मामले की गंभीरता को देखते हुए जांच के लिए एसआइटी का गठन भी किया गया है। उसने अपनी जांच तेज कर दी है। तीन आरोपियों को जेल भी भेजा जा चुका है। जानकारों ने बताया कि ट्रांसपोर्टर डीपीएमके फर्टिलाइजर के पास थोक व फुटकर बिक्री का लाइसेंस भी था। ऐसे में वह माल लाकर अपनी दुकानों के अलावा निजी क्षेत्र में खपा दे तो इसका कई बार पता ही नहीं चल पाता।

जिले का कितना यूरिया
सरकारी की जगह निजी क्षेत्र में यूरिया बेच दिया गया जबकि इसे जिलों में विपणन संघ के डबल लॉक में जमा कराया जाना था। जबलपुर जिले के लिए 853 मीट्रिक टन यूरिया का आदेश दिया गया था। उसमें 728 ही मिला 125 मीट्रिक टन अभी तक प्राप्त नहीं हुआ। कलेक्टर ने कृभको श्याम कपंनी को यूरिया जमा करने के लिए तीन दिन का समय दिया है। इसके अलावा मंडला में 300 मीट्रिक टन में केवल 77 मिला। सिवनी के लिए 100 और दमोह के लिए 200 मीट्रिक टन का आदेश हुआ था। इन जिलों के डबल लॉक का एक दाना भी नहीं मिला। जबलपुर में गोदामों से बरामद यूरिया भेजा गया था।

मंडला में भी लाइसेंस निरस्त
सिवनी, जबलपुर और नरसिंहपुर के बाद मंडला में भी सप्लायर और होलसेलर डीपीएमके फर्टिलाइजर का उर्वरक विक्रय का लाइसेंस निरस्त कर दिया गया है। अब केवल नरसिंहपुर में कार्रवाई होनी है। कृषि विभाग के संयुक्त संचालक केएस नेताम ने बताया कि नरसिंहपुर में जिन अधिकारी को यह कार्रवाई करनी है, वे अभी अस्वस्थ हैं। ऐसे में कार्रवाई रुकी है। सप्लायर ने जिन विक्रेताओं को यूरिया बेचा है, उनसे भी पूछताछ कर जानकारी ली जा रही है।

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

लोन लेना हुआ महंगा, RBI ने लगातार चौथी बार 0.50 फीसदी बढ़ाया रेपो रेट, ज्यादा चुकाना होगी EMIअरविंद केजरीवाल का चौंकाने वाला दावा! अब राघव चड्ढा होंगे गिरफ्तारकांग्रेस आलाकमान ने दिखाए सख्त तेवर, गहलोत-पायलट खेमे को लेकर लिया ये बड़ा फैसलादिग्विजय नहीं भरेंगेे नामांकन, कांग्रेस अध्यक्ष पद की दावेदारी पर संशय बरकरारएक माह में ही काबुल में एक और भीषण आतंकी हमला, निशाने पर शिया-हजारा समुदाय, दो दर्जन से अधिक छात्रों की हत्यारेलवे ने शुरू की अच्छी सर्विस, अब ट्रेन में सोते समय नहीं छूटेगा आपका स्टेशन, जानिए कैसे मिलेगी जानकारीWeather Report: दिल्ली सहित इन राज्यों से विदा हुआ मानसून, जानिए इस वर्ष कितनी कम हुई बारिशदेश को आज मिलेगी तीसरी वंदे भारत ट्रेन, पीएम मोदी दिखाएंगे झंडी, मिलेंगी ये सुविधाएं
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.