जेब से निकले गाइड के 14 पन्ने, नकल के पुर्जे देखकर रह गए दंग

पहले ही पेपर में पकड़या नकलची, सदर स्थित स्कूल में फ्लाइंग स्क्वाड ने की कार्रवाई, माशिमं की बोर्ड परीक्षाओं की हुई शुरुआत, जिले में 107 केंद्रों में हुई परीक्षा, कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के साथ हुआ परीक्षा का आयोजन

By: Mayank Kumar Sahu

Published: 03 Mar 2020, 12:23 PM IST

जबलपुर।

माध्यमिक शिक्षा मंडल की बोर्ड परीक्षाओं की सोमवार से शुरुआत हुई। परीक्षा को लेकर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था रही। पहले दिन 12 वीं कक्षा में हिंदी विशिष्ट का पेपर हुआ। परीक्षा केंद्रों में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई थी। शिक्षा विभाग से लेकर जिला प्रशासन की टीमें भी परीक्षा केंद्रों में औचक निरीक्षण करती रही। 12 वीं के पहले ही पर्चे में एक नकल प्रकरण के साथ जिले में खाता खुला। नकलची छात्र की जेब से एक दो नहीं बल्कि गाइड के 14 पन्ने बरामद किए गए। यह देखकर फ्लाइंग स्क्वार्ड भी सकते में पड़ गई। बताया जाता है ब्लॉक एजुकेशन ऑफीसर अंजनी सेलट के नेतृत्व में टीम ने परीक्षा केंद्रों का औचक निरीक्षण किया। कन्या उमावि सदर में टीम ने जब संदेह होने पर छात्र की जांच की तो उसकी पेंट की जेब से 14 पन्ने गाइड के निकले। इसे देखकर पर्यवेक्षक भी दंग रह गए। बीईओ सेलट की मौजूदगी में छात्र का मौके पर ही पंचनामा बनाया गया और नकल प्रकरण कायम कर माध्यमिक शिक्षा मंडल को रिपोर्ट भेजी गई।

इसी तरह एपीएन स्कूल परीक्षा केंद्र, खालसा स्कूल परीक्षा केंद आदि का भी निरीक्षण किया गया। संभाग में तीन नकलचीजबलपुर संभाग में तीन नकल प्रकरण पहले दिन सामने आए। जबलपुर जिले में एक नकल प्रकरण के अलावा मंडला जिले में एक एवं बालाघाट जिले में एक नकल प्रकरण कायम हुआ। यह नकल प्रकरण जिला शिक्षा अधिकारी की टीम द्वारा बनाया गया।

परीक्षा केंद्रोंं में फ्लाइंग स्क्वाड की धमक

परीक्षा में नजर रखने के लिए जिले स्तर पर गठित 9 उडऩदस्तों ने केंद्रों का औचक निरीक्षण किया। इसके अलावा प्रशासनिक स्तरपर भी संबंधित एसडीएम की टीमें भी निरीक्षण करने परीक्षा केंद्रों में पहुंची। जांच दलों ने परीक्षा केंद्रों में कक्षों की जानकारी ली तो वहीं केंद्रों की सुरक्षा व्यवस्था को भी जांचा परखा। निर्देश दिए कि केंद्र के आसपास किसी भी बाहरी व्यवक्ति को न आने दिया जाए।

सभी के मोबाइल किए गए जप्त

बोर्ड परीक्षा में केंद्राध्यक्ष, सहायक केंद्राध्यक्ष से लेकर परीक्षा से जुड़े स्टाफ के मोबाइल को जप्त करा लिया गया। मोबाइल को स्विच ऑफ करके परीक्षा शुरू होने के साथ केद्राध्यक्ष द्वारा अलमारी में रखवा दिया गया। परीक्षा समाप्त होने के बाद ही इन्हें वापस दिया। यह सुरक्षा इसलिए की गई थी कि किसी भी तरह की नकल कराने पर अंकुश लगया जा सके।

-निरीक्षण के दौरान एक छात्र के पास से नकल की कई पर्चियां बरामद हुई हैं। टीम द्वारा मौके पर ही नकल का प्रकरण कायम कर माध्यमिक शिक्षा मंडल को प्रकरण भेजा गया।
-अंजनी सेलट, बीईओ जबलपुर

Mayank Kumar Sahu Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned