abortion-15 वर्षीय दुष्कर्म पीडि़त का कराया गर्भपात हालत बिगड़ी

abortion-15 वर्षीय दुष्कर्म पीडि़त का कराया गर्भपात हालत बिगड़ी
गर्भपात कराए जाने से किशोरी की हालत खराब

Santosh Kumar Singh | Updated: 26 Jul 2019, 12:43:43 PM (IST) Jabalpur, Jabalpur, Madhya Pradesh, India

डेढ़ महीना पहले सिहोरा स्थित रिश्तेदारी में दुष्कर्म की शिकार बनी 15 वर्षीय किशोरी का गर्भपात कराए जाने का मामला गुरुवार को सामने आया। गर्भपात कराए जाने से किशोरी की हालत खराब हो गई।

जबलपुर। डेढ़ महीना पहले सिहोरा स्थित रिश्तेदारी में दुष्कर्म की शिकार बनी 15 वर्षीय किशोरी का गर्भपात कराए जाने का मामला गुरुवार को सामने आया। गर्भपात कराए जाने से किशोरी की हालत खराब हो गई। परिजन उसे लेकर पहले रांझी अस्पताल फिर विक्टोरिया ले गए। वहां गंभीर हालत बता चिकित्सकों ने मेडिकल रेफर कर दिया। किशोरी की हालत काफी नाजुक बताई जा रही है।
कटनी के युवक ने किया था बलात्कार
किशोरी खमरिया थाना क्षेत्र की रहने वाली है। जून में वह सीहोरा रिश्तेदारी में गई थी। वहां स्लीमनाबाद कटनी निवासी युवक ने उसके साथ बलात्कार किया था। इस प्रकरण में किशोरी की शिकायत पर महिला थाने में बलात्कार का मामला दर्ज हुआ था। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। वर्तमान में आरोपी जेल में है।
किशोरी हो गयी थी गर्भवती
उधर, बलात्कार के बाद किशोरी गर्भवती हो गई। इसकी जानकारी घरवालों को हुई तो वे उसे लेकर रांझी क्षेत्र स्थित निजी अस्पताल में ले गए। वहां 13 जुलाई को उसका गर्भपात कराया गया। अधिक रक्तस्राव होने की वजह से गुरुवार को उसकी हालत बिगड़ गई। इसके बाद निजी अस्पताल ने हाथ खड़े कर दिए। परिजन इसके बाद उसे लेकर रांझी अस्पताल पहुंचे थे।
बीपी व पल्स रेट नापा तो सन्न रह गए चिकित्सक
रांझी अस्पताल में किशोरी का बीपी और पल्स रेट चिकित्सक ने देखा तो सन्न रह गए। उसका ब्लड प्रेशर 44/26 था। शरीर में ब्लड महज तीन मिली ग्राम बचा था। किशोरी अद्र्धबेहोशी की हालत में जा चुकी थी। किशोरी के पीठ में बेड सोल के सात घाव भी थे। इससे साफ है कि वह लम्बे समय से बिस्तर पर ही थी। रांझी से रेफर करने पर उसे विक्टोरिया, फिर मेडिकल ले जाया गया।
वर्जन-
मेडिकल से सूचना मिलने पर बयान लेने महिला पुलिसकर्मी को भेजा था, लेकिन उसकी हालत बयान देने लायक नहीं थी।
शफीक खान, गढ़ा टीआई
वर्जन-
रांझी अस्पताल से जानकारी मांगी गई है। किशोरी का किस निजी अस्पताल में गर्भपात कराया गया है। उसके बारे में परिजनों से जानकारी ली जाएगी। किशोरी का गर्भपात कराने के लिए यदि कानूनी अनुमति नहीं होगी, तो कार्रवाई करेंगे।
मंजीत सिंह, टीआइ रांझी

 

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned