25 करोड़ का विदेशी फंड पाने खर्च करने पड़े मात्र सात लाख, ऐसे मिली रकम!

25 करोड़ का विदेशी फंड पाने खर्च करने पड़े मात्र सात लाख, ऐसे मिली रकम!
25 crore

Lalit Kumar Kosta | Updated: 11 Oct 2019, 12:50:57 PM (IST) Jabalpur, Jabalpur, Madhya Pradesh, India

25 करोड़ का विदेशी फंड पाने खर्च करने पड़े मात्र सात लाख, ऐसे मिली रकम!

 

जबलपुर। एनजीओ को विदेश से 25 करोड़ का फंड दिलाने का झांसा देकर ठग गिरोह ने रेत-गिट्टी सप्लायर्स को सात लाख की चपत लगा दी। इस गिरोह के नौ लोगों के खिलाफ पीडि़त ने गुरुवार को ओमती थाने में धोखाधड़ी व षड्यंत्र रचने का प्रकरण दर्ज किया।

पुलिस के अनुसार मदनमहल निवासी तनवीर सिंह सलूजा रेत-गिट्टी सप्लाई का काम करते हैं। 20 सितम्बर को अधारताल धनी की कुटिया निवासी डॉ. एचएन ठाकुर से मुलाकात हुई। उसने बताया कि वह एनजीओ को विदेशी से फंड दिलवाता है। कहा कि वह 15 करोड़ की सम्पत्ति दिखाएं तो उसके एनजीओ को 25 करोड़ दिला दूंगा। तनवीर से उसने ट्रस्ट की फाइल बुलवाई और कहा कि विदेशी कम्पनी बुलवाने के लिए पांच लाख रुपए अभी और दो लाख बाद में देना होगा। 25 सितम्बर को उसने पांच लाख रुपए दे दिए।

विदेश से 25 करोड़ का फंड दिलाने का झांसा देकर सात लाख की ठगी, ओमती थाने में मामला दर्ज, नौ बने आरोपी

आठ अक्टूबर को डॉ. एचएन ठाकुर ने फोन कर बताया कि कम्पनी के लोग होटल में रुके हैं। नौ अक्टूबर को वह ज्योति टॉकीज वाले होटल पहुंचा। वहां डॉ. एचएन ठाकुर ने रनवीर सिंह तोमर, राजीव देव, अजेंद्र सिंह राठौर, विपिन कुमार, उमेश कुमार, प्रताप नारायण गर्ग, आशीष कुमार, बसीरा इब्राहिम बाईहरसोलिया से मिलवाया। वहां दो लाख रुपए डॉ. एचएन ठाकुर को दिए। इसके बावजूद उससे कश्यप इलेक्ट्रॉनिक के नाम से दस लाख की नान कैंसलेशन डीडी बनवाने की बात कही। इस पर उसे संदेह हुआ। उसने नेट पर कम्पनी के मारे में सर्च किया तो पता नहीं चला। पुलिस ने उक्त लोगों को हिरासत में लिया है।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned