#electricity साढ़े 26 लाख पम्पों को मिलेगी सवा सात लाख ट्रांसफॉर्मर से सप्लाई

दीपावली समेत रबी सीजन की तैयारी

जबलपुर. दीपावली समेत रबी सीजन में उपभोक्ताओं और किसानों को निर्बाध रूप से बिजली मिल सके, इसके लिए बिजली कंपनियों ने तैयारी कर ली है। जानकारों की माने, तो रबी सीजन के दौरान सवा सात लाख ट्रांसफार्मरों के जरिए सप्लाई की जाएगी। पिछले वर्ष की तुलना में पंपों का आंकड़ा बढऩे के साथ ही ट्रांसफार्मरों का आंकड़ा भी बढ़ा है। निर्बाध आपूर्ति के लिए अस्थाई ट्रांसफॉर्मर स्टोर रूम बनाए गए हैं। लोड बढने या घटने के समय ट्रांसफॉर्मर में खराबी आने पर तत्काल बदला जाएगा।
पिछले वर्ष यह थी स्थिति
विद्युत वितरण कम्पनी : कुल पम्प : ट्रांसफॉर्मर
पूर्व क्षेत्र : 08.97 लाख : 1 लाख 92 हजार 795
मध्य क्षेत्र : 05.31 लाख : 02 लाख 53 हजार 691
पश्चिम क्षेत्र : 11.54 लाख : 02 लाख 28 हजार 815
बढ़ेगी डिमांड, इसलिए बढ़ाए ट्रांसफार्मर
बिजली कंपनी के अफसरों की माने तो पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष बिजली की मांग में इजाफा हो सकता है। पिछले वर्ष रबी सीजन में बिजली की मांग रिकॉर्ड 14 हजार मेगावॉट तक पहुंच गई थी। जो इस बार साढ़े 14 हजार मेगावॉट तक पहुंच सकती है।
ट्रांसफार्मर ले जाने पर मिलेगा किराया
जैसे ही कोई आवेदक पंप के लिए आवेदन करता है, तो उसे योजनाओं के तहत पंप भी जल्द उपलब्ध कराए जाएंगें। यदि उपभोक्ता स्वयं के वाहन से ट्रांसफॉर्मर ले जाते हैं तो उन्हें इसका किराया भी दिया जाएगा। किसी भी प्रकार की समस्या के लिए उपभोक्ता और किसान 1912 पर कॉल कर सकते हैं।
वर्तमान में यह स्थिति
विद्युत वितरण कम्पनी : कुल पम्प : ट्रांसफॉर्मर
पूर्व क्षेत्र : 09.10 लाख : 02 लाख
मध्य क्षेत्र : 05.50 लाख : 02 लाख 75 हजार
पश्चिम क्षेत्र : 12.00 लाख : 02 लाख 50 हजार
(वर्तमान स्थिति लगभग में )
प्रदेश में दस घंटे, जबलपुर में रात दिन
प्रदेश में किसानों को दस घंटे बिजली की आपूर्ति की जाएगी। अन्य कंपनियों और स्थानों पर यह आपूर्ति रात में होगी, लेकिन जबलपुर संभाग में किसानों को दिन में चार और रात में छह घंटे बिजली दी जाएगी। इसके लिए रोस्टर भी तैयार कर लिया गया है। यह रोस्टर प्रति 15 दिन में बदलेगा।
वर्जन
ट्रांसफार्मरों को बदलने के साथ ही उनका स्टॉक कर लिया गया है। यदि कहीं ट्रांसफार्मर खराब होता है, तो उसे तत्काल बदलने के निर्देश दिए गए हैं। रबी सीजन में बिजली की मांग पिछले वर्ष की अपेक्षा अधिक हो सकती है।
प्रकाश दुबे, चीफ इंजीनियर, जबलपुर संभाग, मप्रपूक्षेविविकं

virendra rajak
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned