351 जोड़ों ने खाईं साथ रहने की कसमें, एक ने कहा कबूल है

मुख्यमंत्री कन्यादान विवाह और निकाह योजना

By: sudarshan ahirwa

Published: 18 Jun 2019, 12:41 AM IST

जबलपुर. मुख्यमंत्री कन्यादान विवाह और निकाह योजना के अंतर्गत पाटन कृषि उपज मंडी में सोमवार को सामूहिक विवाह का आयोजन किया गया, जिसमें 351 जोड़े परिणय सूत्र में बंधे, वही एक जोड़े का निकाह कराया गया। इससे पहले मंडी के मुख्य गेट से दुल्हों की बारात निकाली गई, जो मंडी प्रांगण का भ्रमण करते हुए गाजे-बाजे के साथ विवाह स्थल पहुंची। यहां वैैदिक मंत्रोच्चार के साथ वर-वधु को परिणय सूत्र में बाधा गया। शासन की ओर से 51 हजार रुपए की राशि वधु के खाते में जमा की गई। सामूहिक विवाह में अतिथि के रूप में मौजूद विधायक अजय विश्नोई ने सभी जोड़ों को अपना आशीर्वाद प्रदान किया। इस दौरान उदयभान सिंह, सविता शत्रुघ्न सिंह, आनंद मोहन पल्हा, संदीप सिंघई बंटी, जनपद सीइओ, एसडीएम अनुराग तिवारी उपस्थित रहे।

सिहोरा में 17 जोड़ों ने लिए सात फेरे
सिहोरा में सामूहिक विवाह का आयोजन सोमवार को सामुदायिक भवन मृगनयनी किया गया। सामूहिक विवाह में 17 जोड़ों ने एक दूसरे का जीवन भर साथ निभाने का वादा किया। जनपद पंचायत सिहोरा से सात और नगर पालिका परिषद सिहोरा से दस जोड़े विवाह बंधन में बंधे। जनपद पंचायत सिहोरा, नगर पालिका परिषद सिहोरा के संयुक्त संयोजन में जनप्रतिनिधियों ने जोड़ों को आशीर्वाद प्रदान किया। सिहोरा विधायक नंदिनी मरावी के मुख्यातिथ्य, पूर्व मंत्री मंजू राय, पूर्व विधायक नित्य निरंजन खम्परिया के विशिष्ट आतिथ्य, नगर पालिका अध्यक्ष सुशीला चौरसिया की अध्यक्षता में आयोजित सामूहिक विवाह आयोजन में बड़ी संख्या में वर-वधु के परिवारों के अलावा सिहोरा नगर एवं ग्रामीण क्षेत्र से आए लोग शामिल थे।

बरेला में 49 जोड़ों बंधे विवाह बंधन में
जनपद पंचायत जबलपुर द्वारा मुख्यमंत्री कन्यादान योजना अंतर्गत ग्राम पंचायत देवरी पटपरा मैं आयोजित सामुहिक कन्या विवाह में 49 जोड़ों ने फेरे लेकर दाम्पत्य जीवन में प्रवेश किया। इस मौके पर मौजूद जनपद अध्यक्ष संजय पटेल, प्रदेश सचिव सन्मति सैनी, ब्लॉक अध्यक्ष अरविंद तिवारी, जनपद सदस्य सतेंद्र गर्ग, जनपद सीइओ राजीव तिवारी ने जोड़ों को आशीर्वाद दिया।

sudarshan ahirwa
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned