50 दिन बाद फायरिंग-बलवा के आरोपी गोलू ने पांच गुर्गों के साथ किया समर्पण

-पूर्व विधायक प्रतिभा सिंह का बेटा है, आरोपी की जीप भी जब्त

By: santosh singh

Published: 02 Sep 2020, 12:58 AM IST

जबलपुर. बेलखेड़ा के कूड़ाकला गांव में रेत खनन को लेकर 12 जुलाई की रात 50-60 गुर्गों के साथ बलवा-फायरिंग करते हुए प्राणघातक हमले के मुख्य आरोपी गोलू उर्फ अनुराग सिंह ने मंगलवार को थाने में समर्पण किया। उसके साथ चार गुर्गों ने भी समर्पण किया। पुलिस ने गोलू की वारदात में प्रयुक्तजीप एमपी 20 ई 9035 भी जब्त की। इस हाईप्रोफाइल मामले में पुलिस सिर्फ दो गिरफ्तारी खुद से कर पाई। अब तक 16 नामजद आरोपी गिरफ्तार हुए हैं। सात फरार हैं।
बेलखेड़ा थाना प्रभारी लक्ष्मीकांत तिवारी ने बताया कि मंगलवार को मुख्य आरोपी बेलखेड़ा निवासी गोलू सिंह ने विपिन भुर्रक, प्रियंक उर्फ चिंकू ठाकुर, उमरिया शहपुरा निवासी अमन सिंह उर्फ झब्बू और हरनाम सिंह के साथ थाने में समर्पण किया। सभी को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया गया। वहां से सभी को जेल भेज दिया गया। इससे पहले 18 अगस्त को रूप सिंह, दिनेश सिंह और बेलखेड़ा निवासी बिज्जू किशोर ने समर्पण किया था। जबकि, वारदात के समय ग्रामीणों ने सिल्लू जैन को पकड़ कर पुलिस के सुपुर्द किया था। पुलिस सिर्फ पथरिया निवासी विजय व अजय सिंह को गिरफ्तार कर पाई। इससे पहले 12 अगस्त को विपिन उर्फ चिंटू पांडे, नीलेश उर्फ संतराम दुबे, सुरेंद्र उर्फ सुन्नू सेन, कमलेश भुर्रक, अमित जैन थाने में हाजिर हुए थे। सात नामजद और 50 अज्ञात आरोपी अब भी फरार हैं।

ये थी पूरी घटना
12 जुलाई की रात आठ से नौ बजे के बीच कूड़ाकला गांव में रेत के विवाद में 30-40 वाहनों से पहुंचे गोलू सिंह और गुर्गों ने राजकुमार उर्फ टीटू सिंह, उनके साले आशीष राजपूत, रवि सहित छह लोगों पर प्राणघातक फायरिंग की थी। मामले में पुलिस ने धारा 147, 148, 149, 294, 323, 307, 120 बी, 427, 188 भादवि और 25, 27 आम्र्स एक्ट का प्रकरण दर्ज किया था।

santosh singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned