scriptकबाड़खाने में मिला बम के खोलों का जखीरा, सकते में NIA, NSG और police अधिकारी | Patrika News
जबलपुर

कबाड़खाने में मिला बम के खोलों का जखीरा, सकते में NIA, NSG और police अधिकारी

कबाड़खाने में मिला बम के खोलों का जखीरा, सकते में NIA, NSG और police अधिकारी

जबलपुरMay 14, 2024 / 02:46 pm

Lalit kostha

Explosion in Jabalpur's junkyard, two workers torn to pieces - watch video

Explosion in Jabalpur’s junkyard, two workers torn to pieces – watch video

जबलपुर . नेशनल हाईवे से लगे खजरी खिरिया बाइपास में हिस्ट्रीशीटर गुंडे शमीम कबाड़ी के कबाड़खाने में बम के खोलों का जखीरा जमा है। सोमवार को सेन्ट्रल आर्डिनेंस डिपो (सीओडी) की टीम पुलिस के साथ कबाड़खाने पहुंची। वहां से 125 मिलीमीटर बम के चार और 30 मिलीमीटर बम के लगभग एक हजार खोल जब्त किए गए। सीओडी की टीम इन्हें अपने साथ ले गई। जिन्हें निष्क्रिय किया जाएगा। पुलिस को आंशका है कि इन खोलों में कुछ जिंदा बम हो सकते हैं। इसलिए यह कार्रवाई की जा रही है। मंगलवार को भी सुबह से कार्रवाई होगी। सीओडी की टीम वहां पहुंचकर बाकी के खोल जब्त कर सकती है।
सुबह पहुंची टीम
कबाड़खाने की जांच के दौरान टीम को 125 एमएम के अलावा 30 एमएम के लगभग ढाई हजार खोल मिले थे। जिसे एनएसजी ने आयुध निर्माणियों के माध्यम से निष्क्रिय कराने की बात कही थी। पुलिस ने सीओडी के अफसरों से सपर्क किया और उक्त खोलों को वहां से उठाने और निष्क्रिय करने कहा। टीम सुबह पांच बजे कबाड़खाने पहुंची। लगभग तीन घंटे में एक हजार से अधिक छोटे और चार बड़े खोलों को लेकर टीम रवाना हुई।
बरेला में होगी प्रक्रिया
सीओडी की बरेला में फायरिंग रेंज है। यहां बमों को निष्क्रिय करने की प्रक्रिया की जाती है। कबाड़खानों से सीओडी द्वारा जब्त किए गए बम के खोलों को यहीं नष्ट किया जाएगा।
यह है मामला

हाईवे से लगे हिस्ट्रीशीटर गुंडे शमीम कबाड़ी के कारखाने में 25 अप्रेल को विस्फोट हुआ था। विस्फोट इतना खतरनाक था कि लगभग आठ से दस हजार वर्गफीट में फैला पूरा कबाडख़ाना ढह गया था। घटना में दो मजदूर गौर निवासी भोलाराम और आनंद नगर निवासी खलील लापता हो गए थे। खलील की मौत की पुष्टी हुई। वहीं भोला की गुमशुदगी दर्ज की गई है। अधारताल पुलिस ने शमीम उसके बेटे फहीम और पार्टनर सुल्तान पर विभिन्न धाराओं के तहत प्रकरण दर्ज किया। शमीम फरार है।
एनएसजी के लैब में चल रही जांच
नेशनल सिक्युरिटी गार्ड (एनएसजी) की टीम ने कई दिनों तक कबाड़खाने में जांच की थी। टीम कुछ बमों को बतौर सेपल अपने साथ ले गई थी। जिनकी जांच दिल्ली स्थित एनएसजी के लैब में की जा रही है। वहीं बमों के खोलों को निष्क्रिय करने के लिए एनएसजी की टीम ने लगभग 75 से अधिक विस्फोट किए थे।

Hindi News/ Jabalpur / कबाड़खाने में मिला बम के खोलों का जखीरा, सकते में NIA, NSG और police अधिकारी

ट्रेंडिंग वीडियो