आचार्य विद्यासागर महाराज का आज होगा संस्कारधानी में प्रवेश

जबलपुर के निकट पहुंचा आचार्यश्री का संघ, बिछुआ में किया रात्रि विश्राम

By: Sanjay Umrey

Published: 23 Jul 2021, 12:03 AM IST

जबलपुर। आचार्यश्री विद्यासागर महाराज अपने संघ के साथ अब संस्कारधानी से महज 16 किमी दूर रह गए हैं। गुरुवार को उन्होंने जबलपुर मार्ग पर स्थित बिछुआ ग्राम के बाहर ससंघ रात्रि विश्राम किया। शुक्रवार को सुबह गुरुवर की पदयात्रा एक बार फिर जबलपुर के लिए आरम्भ होगी। सम्भावना जताई जा रही है कि आचार्यश्री के चरण संस्कारधानी की धरा पर 23 जुलाई की शाम तक पड़ सकते हैं। शहर के जैन समुदाय में आचार्यश्री के आगमन व चातुर्मास को लेकर खासा उत्साह नजर आ रहा है। शहर के बाहर पहुंचकर गुरुवर की अगवानी की व्यापक तैयारियां की जा रही हैं।
चरगवां मोड़ पर होगी जोरदार अगवानी
नगर के जैन समाज ने गुरुवर की अगवानी के लिए जोरदार तैयारियां कर रखी हैं। हालांकि कोरोनाकाल को देखते हुए बैंड बाजों की व्यवस्था नहीं होगी। महाराजश्री की अगवानी के लिए तिलवाराघाट के पार चरगवां मोड़ पर बड़ी संख्या में जैन सम्प्रदाय के लोग पहुंचेंगे। दयोदय तीर्थ से जुड़े सतीश जैन ने बताया कि श्रद्धालुओं से आचार्यश्री की अगवानी में सडक़ के दोनों ओर खड़े रहकर दूर से ही नमोस्तु करने की अपील की
गई है। प्रोटोकॉल के मद्देनजर गुरुवर के चरण स्पर्श की किसी को भी इजाजत नहीं होगी। अगवानी के लिए भी लोगों से सीमित संख्या में पहुंचने का आग्रह किया गया। जैन नवयुवक सभा, जबलपुर की ओर से आग्रह किया गया कि पूज्य आचार्यश्री की आगवानी के समय मास्क का उपयोग अवश्य करें।
सजाया तिलवारा-
गुरुवर आचार्यश्री विद्यासागर महाराज की अगवानी को लेकर तिलवाराघाट के निवासियों में भी खासा उत्साह नजर आ रहा है। लोगों ने अपने घरों को बंदनवार से सजाया है। वहीं आचार्यश्री के चातुर्मास प्रवास स्थल पूर्णायु दयोदय तीर्थ तिलवाराघाट में भी आकर्षक साजसज्जा की गई है।

Sanjay Umrey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned