चौमासे में आत्म साधना करें और अहिंसा संकल्प का पालन करें

आचार्य विद्या सागर ने दिया संदेश, बच्चों को दें संस्कार

By: Sanjay Umrey

Published: 02 Aug 2021, 06:31 PM IST

जबलपुर। ‘दिगम्बर मुनि चार माह के लिए एक स्थान पर सीमित साधनों से आत्म साधना का संकल्प लेते हुए समय व्यतीत करते हैं। हमने संकल्प लिया है अब आप भी संकल्प लें।
चौमासे में आत्म साधना करें और अहिंसा संकल्प का पालन करें। सुख, शांति, पूर्वक, हिंसा से दूर रहे। यह दुर्लभ जीवन मिला है, अहिंसा मार्ग पर चलें। बच्चों को भी अच्छे संस्कार दें। माता-पिता के संस्कारों के कारण ही बच्चे संस्कारित होते हैं। छोटे बच्चे संकल्पित होकर आहार देने तत्पर होते हैं। यह आपके ही संस्कार हैं, बच्चों के चरित्र का प्रारम्भ बचपन से होता है, इनका आपको ध्यान रखना है।’ उक्ताशय के उद्गार आचार्य विद्या सागर ने दिए।
उन्होंने कहा कि जिन बच्चों का लालन पालन शाकाहारी और प्रभु आराधना वाले घर में हुई है, इसीलिए यह बच्चे भी संस्कारित हुए हैं। बच्चों को जो संस्कार दिए जाते हैं, वे आगे जाकर संसार के सामने सद्गुणों के साथ प्रकट होते हैं। यह बताते हैं कि धर्म क्या है और संस्कार संस्कार क्या होते हैं। जब बच्चा 8 वर्ष का होता है और आपके साथ चलने लगता है तब से ही संस्कार की नींव रखी जाती है।
आयुर्वेद शोध पर आधारित
आचार्य ने कहा आयुर्वेद तीन से चार हजार वर्ष पूर्व का ज्ञान है। आयुर्वेद के ग्रंथों में लिखा गया है प्रत्येक शब्द प्रत्येक लाइन पर उस समय शोध किया गया था, जो आज भी जारी है। दो साल में जो महामारी आई उसमें भी आयुर्वेद की महत्ता प्रमाणित हुई है। आयुर्वेद के इलाज से बड़ी संख्या में लोगों की जिंदगी सुरक्षित हुई हैं। आयुर्वेद शास्त्र आज प्रासंगिक है और शोध के द्वारा लिखे गए हैं।
उन्होंने कहा की अकाल मृत्यु को टालने एकमात्र उपाय आयुर्वेद है यह हमारे आयुर्वेद ग्रंथों में लिखा है। आज की जो चिकित्सा पद्धति लोकप्रिय है, वह मात्र 200 वर्ष पुरानी है। दयोदय तीर्थ गोशाला स्थित पूर्णायु आयुर्वेद परिसर में आचार्य गुरुवर विद्यासागर महाराज के चातुर्मास कलश की स्थापना का सौभाग्य मुंबई प्रशांत जैन को मिला। इस दौरान प्रकाश, पवन चौधरी जबलपुर, कैलाश चंद्र, सौरव जैन, दिलीप बडज़ात्या मौजूद थे।

Sanjay Umrey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned