दिल्ली की जीत का असर, करने लगे आप की बात

जबलपुर में भी निकाय चुनाव में उम्मीदवार उतारेगी आप

By: shyam bihari

Published: 01 Mar 2020, 05:59 PM IST

जबलपुर। जीत तो जीत होती है। इसका असर सिर चढ़कर बोलता भी है। अब मध्यप्रदेश में भले ही आम आदमी पार्टी को अभी कोई नामलेवा नहीं है। लेकिन, स्थानीय नेताओं के सिर पर दिल्ली में मिली जीत का उत्साह दो-चार नेताओं में खूब दिख रहा है। जबलपुर में तो पार्टी के जो गिने-गुने नेता हैं, वे भाजपा और कांग्रेस को चुनौती देने का दावा करने लगे हैं। यहां के नेताओं का कहना है कि अब हम के बजाय आप की बात की जाएगी। आप के प्रदेश संगठन मंत्री डॉ मुकेश जायसवाल का उत्साह तो देखते ही बनता है। उन्होंने हाल ही में दावा किया है कि नगरीय व ग्रामीण निकाय चुनाव में आम आदमी पार्टी पूरे मप्र में उम्मीदवार उतारेगी। इसके लिए पार्टी के संगठन को विस्तार दिया जाएगा। पार्टी मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का विकास मॉडल हर घर तक पहुंचाएगी। जायसवाल पूरी तैयारी की बात करते हैं। उन्होंने कहा कि राष्ट्र निर्माण के लिए जुड़ें अभियान 23 मार्च तक जारी रहेगा। इस दौरान लोगों के बीच जाकर दिल्ली व मप्र के मॉडल की तुलना कर लोगों को बताया जाएगा। मिस्डकॉल के लिए मोबाइल नंबर जारी किया गया है। इस नम्बर पर 11 लाख लोग मिस्ड कॉल कर चुके हैं। मप्र में 88 हजार लोग अभियान से जुड़ चुके हैं। इस दौरान आप के प्रदेश संगठन सचिव आशीष सिंगरहा, जगदीश माली, प्रशांत चौकसे, मनोहर लाल जाटव, प्रवीण परसाई, राजेन्द्र अग्रवाल, हरीश श्रीवास्तव मौजूद थे।
बार-बार काठ की हांडी नहीं चढ़ती
आप के जबलपुरी नेताओं के दावों को हवा में उड़ाते हुए भाजपा और कांग्रेस नेताओं का कहना है कि राजनीति में बार-बार काठ की हांडी नहीं चढ़ती। भाजपा नेता अक्सर जबलपुर की गलियों में चर्चा करते मिल जाएंगे कि आप एक अकेले दिल्ली में सिर्फ इसलिए जीत गई, क्योंकि वहां कांग्रेस ने पूरी तरह सरेंडर कर दिया। चौंकाने वाली बात यह है कि कांग्रेस वाले भी यह मानते हैं कि दिल्ली में आप की हार से कांग्रेस को अपने बारे में सोचना चाहिए। कांग्रेसी यह भी कहते हैं कि आप का अतिउत्साह मप्र में तो हवा-हवाई है। आप वालों को मुगालते में नहीं आना चाहिए।

AAP
shyam bihari Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned