scriptAdministration action on used to do farming on government land | सरकारी भूमि पर कब्जे के विरुद्ध प्रशासन की कार्रवाई, जेसीबी से खड़ी फसल को हटाया | Patrika News

सरकारी भूमि पर कब्जे के विरुद्ध प्रशासन की कार्रवाई, जेसीबी से खड़ी फसल को हटाया

सरकारी भूमि पर करते थे खेती

जबलपुर

Published: May 08, 2022 09:10:29 am

जबलपुर। सरकारी भूमि पर हुए अतिक्रमण के विरुद्ध चल रही प्रदेश भर में कार्रवाई के बीच इस बार जबलपुर में सरकारी भूमि पर कब्जा कर खेती-किसानी करने वालों पर प्रशासन ने कार्रवाई की है।

कार्रवाई के तहत शनिवार को मझौली के लड़ोई गांव में 13.71 हेक्टेयर शासकीय भूमि कब्जा मुक्त कराई गई। इस जमीन की कीमत ढाई करोड़ रुपए से ज्यादा है। कार्रवाई के दौरान खेत की फसल पर जेसीबी चलाकर नष्ट किया गया।

jcb_attack.jpg

राजस्व विभाग और पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में अतिक्रमण से मुक्त कराई गई भूमि की जल्द ही कृषि कार्य के लिए नीलामी की जाएगी। मझौली तहसीलदार प्रदीप मिश्रा के अनुसार लडोई की पटवारी हल्का नम्बर 31 की खसरा नम्बर 2 की इस भूमि पर सात लोग अतिक्रमण कर खेती कर रहे थे। भूमि को अतिक्रमण मुक्त कराकर ग्राम पंचायत सचिव की सुपुर्दगी में दिया गया।

कब्जाधारियों को पहले नोटिस भेजा गया था। इसके बाद भी वे उस पर खेती कर रहे थे। कार्रवाई के दौरान एसडीएम सिहोरा आशीष पांडे, उप पुलिस अधीक्षक सिहोरा भावना मरावी, थाना प्रभारी सज्जन सिंह, राजस्व निरीक्षक लखन लाल लोधी एवं पटवारी संजीव कुशवाहा मौके पर मौजूद थे।

इससे पहले ग्वालियर में भाजपा नेता से छुड़ाई गई जमीन :
वहीं पिछले दिनों ग्वालियर के भाजपा नेता और जिला पंचायत अध्यक्ष के पति भुजबल सिंह द्वारा ग्वालियर के बड़ा गांव हाइवे के पास सात बीघा जमीन में बसाई जा रही अवैध कॉलोनी सहित 35 बीघा भूमि पर अन्य कॉलोनाइजर्स द्वारा किए जा रहे निर्माण पर प्रशासन ने अपनी कार्रवाई का बुलडोजर चला दिया है।

दरअसल तहसीलदार कुलदीप दुबे व नायब तहसीलदार डॉ. मधुलिका सिंह तोमर की अगुवाई में करीब 6 घंटे तक जारी रही इस कार्रवाई में 15 करोड़ 80 लाख रुपए की 13 बीघा सरकारी जमीन भी भू माफिया के कब्जे से मुक्त कराई गई है।

सरकारी जमीन पर मुरार निवासी तीन लोगों ने कॉलोनी बसाना शुरु कर दिया था। जिसके बाद एंटी माफिया अभियान के अंतर्गत हुई इस कार्रवाई के दौरान राजनीतिक दबाव की कोशिश भी हुई, लेकिन तहसीलदार और नायब तहसीलदार ने कार्रवाई शुरु होने के बाद से ही अपने अपने फोन स्विच आॅफ कर लिए और शाम को करीब 6:30 बजे कार्रवाई पूरी होने के बाद फोन चालू किए।

जेसीबी से तोड़े थे निर्माण
अवैध तरीके से बसाई जा रहीं इन कॉलोनियों में जिला पंचायत अध्यक्ष पति ने बिजली के खंबे लगवा दिए थे। मुरम की सड़क डलवा दी थी। वहीं कुछ जगह पर आरसीसी की सड़क भी बना दी थी। कॉलोनाइजर्स ने अवैध कॉलोनियों में सीवर चैंबर भी बनावाए थे। कॉलोनियों में करीब 400 भूखंड बिक चुके हैं। प्लॉट खरीदने वाले लोगों ने बुनियाद भरवा ली थी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

बीईओ का रिटायर्ड शिक्षक से रिश्वत मांगने का ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल, 60 हजार की थी डिमांडMumbai Rain: IMD की बड़ी भविष्यवाणी, मुंबई में अगले 24 घंटे में मूसलाधार बारिश होने की संभावनाIND vs ENG: Virat Kohli की खराब फॉर्म इंग्लैंड में भी जारी, 4 मैच खेलने वाले गेंदबाज ने किया आउट, देंखे विडियोMumbai News Live Updates: सीएम एकनाथ शिंदे ने कहा- भारी बारिश से जनता को कोई नुकसान न हो, इसके लिए टीम अलर्ट हैनूपुर शर्मा केस: कांग्रेस बोली- BJP सरकार को मांगनी चाहिएMaharashtra Politics: बीजेपी नेता राहुल नार्वेकर ने विधानसभा स्पीकर के लिए दाखिल किया नामांकन, 3 जुलाई को होगा चुनावRajasthan Monsoon Update: सात जिलों में भारी बारिश का अलर्ट, यहां झूम के बरसे बादलIndian Railway: अब सभी ट्रेनों में जनरल कोच शुरू
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.