आखिर ऑटो को कलर कराना क्यूं पड़ गया जबलपुर में भारी

गढ़ा ट्रैफिक पुलिस ने दबोचा, उधर स्कूली बसों की चैकिंग में भी मिली अनियमितता

By: santosh singh

Published: 10 Jan 2019, 11:30 PM IST

जबलपुर. शहर में ऑटो की धमाचौकड़ी पर अंकुश लगाने के लिए शुरू की गई कलर कोडिंग का भी लोगों ने तोड़ निकाल लिया। संचालक खुद ऑटो में कलर कराकर रूट अंकित करा रहे हैं। गुरुवार को गढ़ा ट्रैफिक पुलिस ने महानद्दा में दबिश देकर दो ऑटो जब्त किए। दोनों के खिलाफ चालान किए गए। वहीं स्कूल बसों को लेकर भी जांच अभियान शुरू किया गया। इस दिन ट्रैफिक डीएसपी मयंक सिंह सहित अमले ने कई स्कूलों की बसों की जांच में खामियां पकड़ी और चेतावनी दी।

जानकारी के अनुसार गढ़ा ट्रैफिक प्रभारी ने महानद्दा में गुरुवार दोपहर को ऑटो एमपी 20 आर 1385 और एमपी 20 आर 118 को पकड़ा। दोनों ऑटो में वाहन संचालक खुद ही भूरा कलर कोडिंग करा रहे थे। ये कलर रूट क्रमांक ५-ए के लिए निर्धारित है। इस रूट के ऑटो को तेवर भेड़ाघाट से रेलवे स्टेशन प्लेटफार्म नम्बर छह तक जाने की अनुमति है। दोनों ऑटो संचालक एक भी दस्तावेज प्रस्तुत नहीं कर पाए। ट्रैफिक पुलिस ने ऐसे प्रकरणों में धोखाधड़ी का मामला दर्ज करने की बात कही है। वहीं शहर में कार सहित अन्य वाहनों के कांच में ब्लैक फिल्म लगाने पर भी कार्रवाई की गई।
65 स्कूल बसों की जांच, सात हजार जुर्माना वसूला

ट्रैफिक पुलिस ने गुरुवार से स्कूल बसों की जांच शुरू की। डीएसपी मयंक सिंह ने बताया कि पहले दिन सदर स्थित सेंट, लिटिल वल्र्ड तिलवारा, सेंट जोसेफ कॉन्वेंट स्कूल, टीएफआरआइ समाधि रोड, केंद्रीय विद्यालय क्रमांक 1 व 2 महर्षि स्कूल गोरखपुर की 65 बसों की जांच की गई। बसों में सीसीटीवी कैमरे, जीपीएस, स्पीड गवर्नर, अग्निशमन यंत्र, फस्र्ट एड बॉक्स, खिड़कियों पर जाली आदि देखा गया। अधिकतर चालक वर्दी में नहीं मिले। वहीं बसों का लाइसेंस, रजिस्ट्रेशन, बीमा, फिटनेस, परमिट आदि दस्तावेज भी पूरे नहीं मिले। नियमों के उल्लंघन पर सात हजार रुपए जुर्माना वसूला।

धोखाधड़ी का मामला होगा दर्ज
ट्रैफिक एएसपी अमृत मीणा ने बताया कि तीनों यातायात प्रभारियों को इस संबंध में निर्देशित किया गया है कि खुद से कलर कोडिंग कराए गए ऑटो चिन्हित कर उन्हें तत्काल जब्त किया जाए। उनके विरुद्ध नियमानुसार कठोर दंडात्मक कार्यवाही की जाए। साक्ष्य मिलने पर उनके विरुद्ध धोखाधड़ी का प्रकरण भी दर्ज किया जाएगा।

santosh singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned