अजाक संघ के तत्कालीन अध्यक्ष अजय पर चलेगा हत्या का मुकदमा

हाईकोर्ट ने जिला अदालत के आदेश पर लगाई मुहर, जिला अदालत ने खात्मा रिपोर्ट की थी निरस्त

By: awkash garg

Published: 19 Apr 2016, 11:58 PM IST

जबलपुर। मप्र हाईकोर्ट जिला अजाक संघ के तत्कालीन अध्यक्ष अजय बाबू सोनकर के खिलाफ हत्या के मामले में अभियोजन द्वारा लगाई गई खात्मा रिपोर्ट ठुकराने के जिला अदालत के आदेश को उचित ठहराया है। जस्टिस एसके गंगेले की एकलपीठ ने कहा है कि अजय बाबू सोनकर पर हत्या का मुकदमा चलेगा। कोर्ट ने कहा कि कॉल डिटेल के आधार पर किसी व्याक्ति की किसी विशेष जगह उपस्थिति का निर्धारण नहीं किया जा सकता। 

यह है मामला
प्रकरण के मुताबिक 31 जनवरी 2012 की रात शोभराज नामक शख्स ने आधारताल थाने में रिपोर्ट लिखाई कि उसके दोस्त संदीप सोनकर की अजय बाबू सोनकर से रंजिश थी। वह और उसका दोस्त संदीप सोनकर खड़े बातें कर रहे थे। तभी अजय उर्फ अजय बाबू सोनकर ने अपने साथियों भरत नारायण सोनकर, सचिन सोनकर के साथ उस पर हमला कर दिया। आरोपितों ने संदीप को सिर में गोली मार दी, जिससे उसकी मौत हो गई। इस मामले में पुलिस द्वारा गवाहों के बयान दर्ज किए जाने के बाद अभियोजन की ओर से जिला न्यायालय में चल रहे मुकदमे में अजय सोनकर के खिलाफ खात्मा रिपोर्ट पेश कर दी गई। रिपोर्ट में कहा गया कि घटना के गवाहों गंगाराम, कौशल कुमार देवक व श्यामकांत के बयान से यह साबित होता है अजय सोनकर घटना के वक्त अजाक संघ की बैठक में था। उसके मोबाइल फोन की कॉल डिटेल के आधार पर रिपोर्ट में कहा गया कि घटना के वक्त अजय की लोकेशन सीटीओ बिल्डिंग के आसपास थी, जो घटनास्थल से काफी दूर थी। जिला अदालत ने इस आधार पर रिपोर्ट को नकार दिया कि एफआईआर चश्मदीद गवाह ने अजय सोनकर के खिलाफ नामजद दर्ज कराई थी। 

कोई भी कर सकता है मोबाइल इस्तेमाल
कोर्ट ने सोनकर की अर्जी पर सुनवाई के बाद कहा कि किसी व्यक्ति की मोबाइल लोकेशन से किसी की स्थिति का निर्धारण नहीं किया जा सकता। कोई दूसरा व्यक्ति भी इस मोबाइल का इस्तेमाल कर सकता था। कोर्ट ने कहा कि जिला अदालत ने चश्मदीद गवाह की दर्ज कराई रिपोर्ट के आधार पर खात्मा खारिज किया है। इसमें अजय का नाम है। इसलिए यह फैसला उचित और सही है। इस मत के साथ कोर्ट ने अर्जी निराकृत कर दी। 
Show More
awkash garg
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned